कैदियों ने मानवाधिकार आयोग को शपथपत्र भेज कर इच्छामृत्यु की मांग की

वर्तमान समय में सितारगंज की संपूर्णानंद शिविर जेल में 47 और जेल परिसर के केंद्रीय कारागार में कुल 503 कैदी सजा काट रहे हैं. इनमें से 102 दोषसिद्ध कैदी आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं.

Pooran Singh Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: May 26, 2019, 6:12 PM IST
कैदियों ने मानवाधिकार आयोग को शपथपत्र भेज कर इच्छामृत्यु की मांग की
सितारगंज की संपूर्णानंद शिविर जेल और जेल परिसर के केंद्रीय कारागार में कैदियों ने मांगी इच्छामृत्यु.
Pooran Singh Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: May 26, 2019, 6:12 PM IST
ऊधमसिंह नगर के सितारगंज की संपूर्णानंद शिविर जेल और जेल परिसर के केंद्रीय कारागार में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 88 कैदियों ने मानवाधिकार आयोग को शपथपत्र भेज कर इच्छामृत्यु की मांग की है. अब तक 14 वर्ष की सजा पूरी कर चुके इन कैदियों द्वारा आयोग को भेजे गए पत्रों में खुद के बीमार और उम्र अधिक होने का हवाला देते हुए खुद की रिहाई की मांग भी की गई है. पत्र में कैदियों ने लंबी अवधि की सजा काट चुके बंदियों की रिहाई के लिए कोई निश्चित नीति नहीं होने पर भी सवाल उठाए हैं.

वर्तमान समय में सितारगंज की संपूर्णानंद शिविर जेल में 47 और जेल परिसर के केंद्रीय कारागार में कुल 503 कैदी सजा काट रहे हैं. इनमें से 102 दोषसिद्ध कैदी आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं. उधर इस पूरे मामले का संज्ञान लेते हुए प्रभारी जेल अधीक्षक ने आईजी जेल को पूरे मामले की रिपोर्ट भेज दी है.



आरटीआई कार्यकर्ता हेमंत गोनिया ने कहा कि कैदियों के नाश्ता, लंच और डिनर पर जेल प्रशासन 64 लाख रुपये खर्च कर चुका है. उन्होंने कहा कि कैदियों को दिया जाने वाला खाना गुणवत्ताहीन है. उस खाने को कोई खा नहीं सकता है. साथ ही कैदियों को तरह-तरह से यात्नाएं भी दी जाती हैं और उनसे तरह-तरह के काम कराए जाते हैं. उन्होंने कहा कि सरकार को इन कैदियों को जल्द-से-जल्द बाहर निकालना चाहिए.

ये भी देखें  - VIDEO : बाइक सवार लुटेरों ने महिला के गले से खींच ली सोने की चेन

ये भी पढ़ें - आग बुझाने में वन विभाग फिसड्डी, लाखों की वन संपदा खाक

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...