Home /News /uttarakhand /

रुद्रपुर सांप्रदायिक तनाव केस: तीन गिरफ्तार, कांग्रेस नेता ने कहा - BJP विधायक से जान का खतरा

रुद्रपुर सांप्रदायिक तनाव केस: तीन गिरफ्तार, कांग्रेस नेता ने कहा - BJP विधायक से जान का खतरा

रुद्रपुर में तनाव के हालात में बीजेपी विधायक व उनके समर्थकों ने गाली गलौज की थी.

रुद्रपुर में तनाव के हालात में बीजेपी विधायक व उनके समर्थकों ने गाली गलौज की थी.

Rudrapur Communal Incident : उत्तराखंड के उधमसिंह नगर (US Nagar) ज़िले के रुद्रपुर में पांच दिन पहले तबसे तनाव की स्थिति बन गई थी, जब गोवंश के पशुओं के मारे जाने (Slaughter) की खबर फैली थी. इसके बाद कांग्रेस नेता के साथ बीजेपी विधायक (Rajkumar Thukral) व उनके समर्थकों द्वारा आपत्तिजनक बर्ताव किए जाने की खबरें आई थीं. मामला इतना बढ़ गया था कि पुलिस और सशस्त्र बल के जवानों को प्रभावित इलाकों में तैनात करना पड़ा था. अब हालात शांतिपूर्ण बताए जा रहे हैं, इधर मामले में नये अपडेट भी सामने आए हैं.

अधिक पढ़ें ...

चंदन बंगारी
रुद्रपुर. उत्तराखंड चुनाव की सरगर्मियों के बीच रुद्रपुर में बीते सोमवार को पशुओं के काटे जाने के मामले में सांप्रदायिक तनाव में नया मोड़ आया है. कांग्रेस नेता अनिल शर्मा ने बीजेपी के विधायक और उनके समर्थकों से अपनी और अपने परिवार को जान का खतरा बताते हुए पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है. पुलिस इस आवेदन पर जांच के आधार पर कार्रवाई करने की बात कह रही है. इधर, तनाव के मामले में तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार करने के बाद बताया कि केस में दो आरोपी फरार हैं, जबकि एक ने उत्तर प्रदेश के रामपुर कोर्ट में एक अन्य मामले में सरेंडर किया था.

रुद्रपुर से बीजेपी विधायक राजकुमार ठुकराल और कांग्रेस नेता अनिल शर्मा के बीच हुई नोकझोंक का मामला तूल पकड़ रहा है. अनिल शर्मा ने पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज नहीं करने पर एसएसपी दलीप सिंह कुंवर के सामने नाराज़गी जताई और सुरक्षा की गुहार भी की. दरअसल 10 जनवरी को रुद्रपुर में गौवंशीय पशुओं को काटे जाने को लेकर तनाव हो गया था. तब विधायक ठुकराल और उनके भाई संजय ने शर्मा के साथ गाली गलौज की थी. शर्मा का कहना है कि विधायक उनके परिवार से राजनीतिक द्वेष रखते हैं. शर्मा द्वारा सुरक्षा मांगे जाने पर एसएसपी कुंवर ने कहा कि तहरीर के आधार पर जांच हो रही है.

कैसे गैंग का हुआ पर्दाफाश?
कुंवर ने इस मामले में हुई कार्रवाई के बारे में बताते हुए कहा, इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 10 टीमें बनाई गई थीं. एक आरोपी अयूब उर्फ हकला को शुक्रवार को महतोश मोड़ से गिरफ्तार किया गया था. उसने रामपुर के ही शौलत अली और अफसर अली के बारे में पुलिस को बताया, जो लंबे समय से बीफ का व्यापार कर रहे थे. साथ ही हकला ने रामपुर के दानिश और स्वार के उस्मान व नईम का नाम भी इस केस में लिया.

कुंवर के मुताबिक हकला की निशानदेही पर पुलिस ने शौलत और अफसर को भी गिरफ्तार किया जबकि बाकी दो उस्मान और नईम अभी फरार हैं. खबरों की मानें तो इस गैंग का सरगना दानिश को बताया जाता है, जिसने रामपुर कोर्ट में एक अन्य मामले में गुरुवार को सरेंडर कर दिया. कुंवर के मुताबिक रामपुर और यूएसनगर में इन आदतन अपराधियों के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं.

Tags: Crime News, Rudrapur News, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर