Uttarakhand : सट्टेबाजी में बीजेपी से जुड़ा टिप्सन नरूला अपने तीन साथियों के साथ गिरफ्तार

एक नामी होटल से ये तीनों गिरफ्तार किेए गए. इनकी निशानदेही पर चौथा साथी भी पकड़ा गया.
एक नामी होटल से ये तीनों गिरफ्तार किेए गए. इनकी निशानदेही पर चौथा साथी भी पकड़ा गया.

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार लोगों में गरपुर ब्लॉक के ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख टिप्सन नरूला और उनके दो साथी अमनदीप और कमल कालरा शामिल हैं. टिप्सन नरूला का संबंध बीजेपी (BJP) से भी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 10:55 PM IST
  • Share this:
ऊधमसिंह नगर. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में सट्टे का चस्का बड़े-बड़े लोगों को जेल की हवा खिला रहा है. उत्तराखंड (Uttarakhand) के ऊधमसिंह नगर के एक नामी होटल से सट्टा लगाते चार लोगों को गिरफ्तार (Arrested) किया गया. गिरफ्तार लोगों में गरपुर ब्लॉक के ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख टिप्सन नरूला और उनके दो साथी अमनदीप और कमल कालरा शामिल हैं. टिप्सन नरूला का संबंध बीजेपी (BJP) से भी है. पुलिस को सटोरियों के कमरे से कई ऐसे सबूत हाथ लगे जिससे साबित हो रहा था कि ये लोग आईपीएल के खेल में सट्टा लगा रहे थे. पुलिस को मौके से सेल फोन, कैश और सटोरियों से जुड़े मोबाइल नंबर मिले हैं.

ऐसे बिछाया पुलिस ने जाल

पुलिस को सूचना मिली कि रुद्रपुर-हल्द्वानी रोड पर होटल रेडिस के कमरा नंबर 203 में कुछ लोग ठहरे हुए हैं. जो यहां के सटोरियों के संपर्क में हैं और लोगों को लाखों का सट्टा खेला रहे हैं. एसएसपी दलीप सिंह कुंवर के निर्देश पर सीएम अमित कुमार के नेतृत्व में ट्रैप टीम बनाई गई. जिसके जाल में ये तीनों सटोरिए फंस गए. हालांकि एक सटोरिया थोड़ी देर पहले खेल कर चला गया था. पकड़े गए तीनों सटोरियों की निशानदेही पर पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने मौके से 40 हजार से ज्यादा का कैश 7 मोबाइल फोन बरामद किए हैं. सभी आरोपियों के खिलाफ रुद्रपुर कोतवाली में जुआ खेलने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है.



जल्दी पैसे कमाने का चक्कर
एसपी सिटी देवेंद्र पिंचा के मुताबिक आईपीएल के जरिए घर बैठे मोटा पैसा कमाने का लालच कई लोगों पर भारी पड़ रहा है. लोगों के जल्दी पैसा कमाने के लालच का सटोरिए फायदा उठा रहे हैं. पुलिस की निगाह इस पूरे खेल पर बनी हुई है.

बताया राजनीतिक साजिश

गदरपुर के ज्येष्ठ ब्लॉक प्रमुख टिप्सन नरूला ने पुलिस के जाल में फंसने के बाद आरोप लगाया कि वे राजनीतिक साजिश का शिकार हुए हैं. क्योंकि वे सट्टे का कोई खेल नहीं खेलते. पुलिस ने उनके पास मौजूद कैश और मोबाइल्स को जबरन सट्टे से जोड़ने की कोशिश की है. हालांकि पुलिस सारी कॉल रिकॉर्ड्स के जरिए ये साबित करने की कोशिश में है कि टिप्सन नरूला एक प्रोफेशनल सटोरिया है. जो अपने साथियों संग सट्टे के खेल को अंजाम दे रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज