Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड पंचायत चुनावः जसपुर में कब्रिस्तान के लिए एक करोड़ की ज़मीन दान दी थी, प्रत्याशी समेत 2 पर केस दर्ज  

उत्तराखंड पंचायत चुनावः जसपुर में कब्रिस्तान के लिए एक करोड़ की ज़मीन दान दी थी, प्रत्याशी समेत 2 पर केस दर्ज  

सीओ काशीपुर मनोज ठाकुर ने बताया कि आज पुलिस ने इस मामले में प्रधान पद प्रत्याशी और उनके ससुर के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कर लिया.

सीओ काशीपुर मनोज ठाकुर ने बताया कि आज पुलिस ने इस मामले में प्रधान पद प्रत्याशी और उनके ससुर के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कर लिया.

आरोपी प्रधान प्रत्याशी के पति सरफ़राज़ चौधरी (Sarfaraz chaudhary) ने दावा किया था कि ज़मीन दान देने का चुनाव प्रक्रिया (Election Process) से कोई लेना-देना नहीं था.

जसपुर. उत्तराखंड पंचायत चुनाव (Uttarakhand Panchayat Eelctions) में चुनाव को प्रभावित करने के लिए कब्रिस्तान (Graveyard) दान देने के अनूठे मामले में पुलिस ने प्रधान पद प्रत्याशी और उनके परिजनों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कर लिया है. चंद दिन पहले जसपुर (Jaspur) की एक महिला प्रधान के परिवार ने गांव को कब्रिस्तान के लिए तीन बीघे ज़मीन दान में दी थी. विरोधी पक्ष ने दावा किया था कि चुनाव को प्रभावित करने (to influence Election) के लिए यह ज़मीन दान दी गई है और इसकी शिकायत सहायक निर्वाचन अधिकारी को की थी. आज सहायक निर्वाचन अधिकारी (ARO) की संस्तुति पर पुलिस ने प्रधान पद प्रत्याशी समेत दो के ख़िलाफ़ केस दर्ज कर लिया.

तीन बीघे ज़मीन दी थी दान 

बता दें कि ग्राम बेलजुड़ी से प्रधान पद के लिए सरफराज चौधरी की पत्नी रूही नाज़ ने पर्चा दाखिल किया है. आरोप है कि प्रधान पद पाने के लिए सरफ़राज़ चौधरी ने गांव के कब्रिस्तान के लिए तीन बीघा ज़मीन दान में दे दी, जिसकी कीमत करीब एक करोड़ रुपये बताई जा रही है.

विरोधी प्रत्याशी ने आरोप लगाया कि कब्रिस्तान के लिए ज़मीन चुनाव प्रभावित करने के लिए दान में दी है. चुनाव आयोग में की गई शिकायत में दावा किया गया था कि ग्रामीणों ने कहा था कि अगर कोई प्रत्याशी गांव के कब्रिस्तान को ज़मीन दान देगा तो उसे निर्विरोध ग्राम प्रधान चुन लिया जाएगा. इसके बाद सत्ता के लालच में प्रत्याशी के पति सरफराज चौधरी और उसके परिजनों ने अपनी ज़मीन दान दे दी है.

हालांकि सरफ़राज़ चौधरी ने इस बात का खंडन किया था और कहा था कि ज़मीन दान देने का चुनाव प्रक्रिया से कोई लेना-देना नहीं था. उन्होंने कहा कि गांव के कब्रिस्तान की ज़मीन कम थी और कब्रिस्तान के लिए ज़मीन दान देना पारिवारिक फ़ैसला था.

इस मामले की जांच के बाद जसपुर के ARO (सहायक निर्वाचन अधिकारी) ने इस मामले की रिपोर्ट दर्ज करने की सिफ़ारिश की थी. सीओ काशीपुर मनोज ठाकुर ने बताया कि आज पुलिस ने इस मामले में प्रधान पद प्रत्याशी और उनके ससुर के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कर लिया.

ये भी देखें: 

उत्तराखंड पंचायत चुनाव: 12 ज़िलों में पहले चरण की वोटिंग कल, ये हैं इन चुनावों की ख़ास बातें

उत्तराखंड पंचायत चुनावः पार्टी समर्थित प्रत्याशियों का विरोध करने वाले MLA भी बीजेपी के राडार पर

Tags: Code of conduct, Udham Singh Nagar news, Uttarakhand news, Uttarakhand Panchayat Election 2019

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर