क्या निकाय चुनाव के सहारे कांग्रेस की नाक बचा पाएंगे ये दिग्‍गज नेता?

श्रीनगर और बाजपुर में नगर पालिका के चुनाव में अगले 5 दिन कांग्रेस के बड़े नेता ताकत झोंकेगे.

Deepankar Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: July 3, 2019, 12:43 PM IST
क्या निकाय चुनाव के सहारे कांग्रेस की नाक बचा पाएंगे ये दिग्‍गज नेता?
निकाय चुनावों में कांग्रेस लगाएगी पूरा जोर. (फाइल फोटो)
Deepankar Bhatt
Deepankar Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: July 3, 2019, 12:43 PM IST
लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस के लिए 8 जुलाई को दो निकायों में होने वाले चुनाव नाक का सवाल बन गए हैं. उत्तराखंड के श्रीनगर और बाजपुर में नगर पालिका के चुनाव होने हैं और यह बीजेपी के साथ-साथ कांग्रेस लिए चुनौती है. हालांकि 57 विधायकों वाली बीजेपी सरकार सत्ता में है और इसी वजह से उसका दावा पुख्ता लगता है. जबकि कांग्रेस भी आसानी से हार मानने वाली नहीं है.

कांग्रेस लगाएगी पूरी ताकत
श्रीनगर और बाजपुर में नगर पालिका के चुनाव में अगले 5 दिन कांग्रेस के बड़े नेता ताकत झोंकेगे. बुधवार को जहां कांग्रेस महासचिव हरीश रावत और प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और नेता विपक्ष इंदिरा हृदयेश बाजपुर में रैली करेंगे. वहीं, गुरुवार को सभी नेता श्रीनगर में नगर पालिका अध्यक्ष के समर्थन में जनसभा करेंगे.

ऐसा रहा था 2018 में रिजल्‍ट

नवंबर 2018 में उत्तराखंड के 92 में से 84 निकायों में चुनाव हुए थे,जिसमें 34 बीजेपी, 25 कांग्रेस और 25 निकाय निर्दलीय के खाते में गए. 84 निकायों में 7 नगर निगम भी शामिल थे, जिनमें कोटद्वार और हरिद्वार में कांग्रेस ने जीत हासिल की. जबकि 2 निकायों में चुनाव लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद हो रहे हैं और ऐसे में कांग्रेस के लिए छोटी सी जीत भी बड़ी अहम होगी.

निकाय चुनावों में कांग्रेस के बड़े नेताओं की इज्‍जत दांव पर है.


कौन जीतेगा बड़े नेता की रेस?
Loading...

निकाय चुनाव भले ही 2 सीटों पर है, लेकिन यह कांग्रेस के बड़े नेताओं के कद का इम्तिहान भी है. हरीश रावत, प्रीतम सिंह, इंदिरा हृदयेश, किशोर उपाध्याय जैसे नेता खुद को बड़ा नेता तो बताते हैं, लेकिन 2017 में विधानसभा चुनाव में हार के बाद कोई भी खास असर पैदा करने में नाकाम रहा है. यकीनन यहां मिली जीत कांग्रेस के नेताओं की ताकत बढ़ा देगी.

क्‍या सफल होगी कांग्रेस?
श्रीनगर और बाजपुर में निकाय चुनाव के बाद अगस्त-सितंबर में पंचायत चुनाव प्रस्तावित हैं. बीजेपी और कांग्रेस दोनों पंचायत चुनाव में जीत का दम भर रहे हैं. बीते 2 साल का रिकॉर्ड देंखे तो आंकड़े भी बीजेपी के पक्ष में ही नजर आते हैं और कांग्रेस रेस से बाहर नजर आती है.ऐसे में श्रीनगर और बाजपुर का निकाय चुनाव कांग्रेस के लिए नाक का सवाल बना हुआ है?

ये भी पढ़ें

आज से रफ़्तार पकड़ेगा मॉनसून... 3 से 5 देहरादून समेत 7 ज़िलों में भारी बारिश की संभावना

रुद्रपुर पहुंचे दो नर टस्कर हाथियों का तांडव, एक व्यक्ति की ली जान
First published: July 3, 2019, 12:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...