• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • VIDEO: हड्डी गला देने वाली ठंड और बर्फ में नंगे पांव बाबा केदार की डोली लेकर पहुंचे भक्त

VIDEO: हड्डी गला देने वाली ठंड और बर्फ में नंगे पांव बाबा केदार की डोली लेकर पहुंचे भक्त

बाबा केदारनाथ की डोली ले जाते भक्त.

बाबा केदारनाथ की डोली ले जाते भक्त.

आठवीं शताब्दी में आदि शंकराचार्य (Adi Shankaracharya) के द्वारा बनाए गए केदारनाथ धाम के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए साल में 6 महीने ही खोले जाते हैं. डोली फिलहाल केदारनाथ पहुंचेगी और परसों यानी बुधवार को विधि विधान के साथ केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाएंगे.

  • Share this:
    रूद्रप्रयाग. उत्तराखंड (Uttarakhand) की विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा (Chardham Yatra) की शुरुआत हो चुकी है. बीते 26 अप्रैल को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम (Yamunotri Dham) के कपाट खुलने के साथ ही इस पवित्र यात्रा की शुरुआत हो गई. चारधाम यात्रा के शुरू होने के साथ ही अब लोगों को बाबा केदारनाथ धाम के कपाट खुलने का इंतजार है, जिसे 29 अप्रैल को खोला जाएगा. लेकिन इससे पहले सोमवार को परंपरागत रूप से बाबा केदार की डोली निकाली गई. कड़ाके की ठंड और हड्डी गला देने वाली बर्फ के बीच श्रद्धालु नंगे पांव ही बाबा केदार की डोली लेकर केदारनाथ धाम की ओर बढ़ चले हैं. हालांकि कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की रोकथाम को लेकर अभी लॉकडाउन (Lockdown) है. उत्तराखंड के विभिन्न इलाकों में लोग अपने घरों में कैद हैं. बावजूद इसके जिसने भी इस मनोहारी दृश्य को देखा, वह विभोर हो गया.

    आदि शंकराचार्य ने की थी स्थापना
    बुधवार को केदारनाथ धाम के कपाट खुलने से पूर्व सोमवार को बाबा केदार की डोली को लेकर बर्फ और कड़ाके की ठंड के बीच पूरे सम्मान के साथ भक्त केदरनाथ धाम की तरफ बढ़ते गए. आठवीं शताब्दी में आदि शंकराचार्य (Adi Shankaracharya) के द्वारा बनाए गए केदारनाथ धाम के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए साल में 6 महीने ही खोले जाते हैं. डोली फिलहाल केदारनाथ पहुंचेगी और परसों यानी बुधवार को विधि विधान के साथ केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाएंगे. मान्यता है कि डोली उठाने वाले भक्त नंगे पैर ही डोली को लेकर जाते हैं.


    लॉकडाउन के नियमों के तहत इस बार इंतजाम
    यूं तो चारधाम यात्रा हर साल होती है और प्रशासन इसकी पूरी तैयारी गंभीरता के साथ करता है. लेकिन इस बार कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन के बीच इसको लेकर अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है. उत्तरकाशी जिले के डीएम डॉ. आशीष चौहान ने बीते दिनों गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के बाद जानकारी दी थी कि देशव्यापी लॉकडाउन के कारण इस बार भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार दोनों धामों के कपाट सादगीपूर्ण तरीके से खोले गए हैं. कपाट खोलने के पहले दोनों धामों का मेडिकल परीक्षण किया गया. इसके लिए सीएमओ और अफसरों की टीम मौजूद थी. कपाट खुलने के समारोह के मौके पर मौजूद सभी पुरोहितों की जांच की गई. साथ ही सैनेटाइजर, मास्क आदि का भी प्रबंध किया गया था.

    ये भी पढ़ें- 

    COVID-19: 3 मई के बाद भी स्कूल, मॉल रह सकते हैं बंद, फैसला अगले हफ्ते

    कोरोना वायरस: MHA ने कहा- प्रवासी मजदूरों के लौटने से ग्रामीण क्षेत्र को खतरा

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज