उत्तराखंड: शिक्षा विभाग का कोई भी कर्मचारी 6 महीने तक नहीं जा सकेगा हड़ताल पर, ये रही वजह

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे यह साफ कर चुके हैं कि बच्चों को स्कूल ऑफलाइन मोड में बुलाया जाए.

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे यह साफ कर चुके हैं कि बच्चों को स्कूल ऑफलाइन मोड में बुलाया जाए.

Uttarakhand Education Department: पिछले साल कोरोना वायरस से पढ़ाई बहुत ज्यादा प्रभावित हुई है और अब शिक्षा विभाग किसी भी तरह की कोताही बच्चों के भविष्य को देखते हुए नहीं बरतना चाहता है. ऐसे में सभी कैटेगरी के कर्मचारियों को यह निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने काम पर ध्यान दें.

  • Share this:
देहरादून. शिक्षा विभाग से जुड़ी बड़ी खबर यह है कि अगले 6 महीने तक शिक्षा विभाग का कोई भी कर्मचारी हड़ताल पर नहीं जा सकेगा. शिक्षा सचिव और मीनाक्षी सुंदरम की तरफ से आदेश जारी कर सभी कैटेगरी के कर्मचारियों के लिए आदेश जारी करते हुए तत्काल प्रभाव से अगले छह महीने के लिए हड़ताल पर रोक लगा दी गई है. दरअसल अब नया शैक्षणिक सत्र भी शुरू होने वाला है. बोर्ड एग्जाम भी करीब हैं और साथ ही गृह परीक्षाएं भी आयोजित करवानी है, ऐसे में तत्काल प्रभाव से हड़ताल पर रोक का आदेश सोमवार को शासन की तरफ से जारी कर दिया गया है. शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम की तरफ से सभी कैटेगरी के कर्मचारियों के लिए यह आदेश जारी करते हुए कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने पर तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया है.

पिछले साल कोरोना वायरस से पढ़ाई बहुत ज्यादा प्रभावित हुई है और अब शिक्षा विभाग किसी भी तरह की कोताही बच्चों के भविष्य को देखते हुए नहीं बरतना चाहता है. ऐसे में सभी कैटेगरी के कर्मचारियों को यह निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने काम पर ध्यान दें. अगले 6 महीने तक किसी भी तरह के आंदोलन, हड़ताल, प्रदर्शन पर प्रतिबंध रहेगा. ऐसे में बच्चों की पढ़ाई ना प्रभावित हो, इस पर सरकार का ध्यान ज्यादा केंद्रित है और इसी के मद्देनजर यह आदेश जारी कर दिया गया है.

इससे पहले शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम सभी अधिकारियों की मीटिंग लेकर स्कूलों में शैक्षणिक सत्र पर ध्यान देने के निर्देश भी दे चुके हैं. शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे यह साफ कर चुके हैं कि बच्चों को स्कूल ऑफलाइन मोड में बुलाया जाए. इसके लिए अधिकारी कार्रवाई करें 15 अप्रैल तक स्कूलों में एजुकेशन स्टेशन को शुरू करवाने की कार्रवाई करने के निर्देश भी शिक्षा मंत्री दे चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज