Home /News /uttarakhand /

Rising Uttarakhand: जुबिन नौटियाल और सीएम पुष्कर धामी की जुगलबंदी पर झूम उठे लोग

Rising Uttarakhand: जुबिन नौटियाल और सीएम पुष्कर धामी की जुगलबंदी पर झूम उठे लोग

पहाड़ की मशहूर आवाज जुबिन नौटियाल ने राइजिंग उत्तराखंड में पहुंचकर धूम मचा दी.

पहाड़ की मशहूर आवाज जुबिन नौटियाल ने राइजिंग उत्तराखंड में पहुंचकर धूम मचा दी.

Rising Uttarakhand: पहाड़ की मशहूर आवाज जुबिन नौटियाल ने राइजिंग उत्तराखंड में पहुंचकर धूम मचा दी. उनके पहाड़ी गानों में लोग खो गए. कार्यक्रम के बीच पहुंचे सीएम सीएम पुष्कर सिंह धामी भी खुद को नहीं रोक पाए और वह जुबैन के साथ पहाड़ी गाने को गुनगुनाने लगे. इस दौरान मशहूर गायक जुबिन नौटियाल ने अपनी जन्मस्थली की मिठास को भी बयां किया. जुबिन के दिल गलती कर बैठा ने माहौल में जोरदार जोश पैदा कर दिया.

अधिक पढ़ें ...

    देहरादून. उत्तराखंड राइजिंग (Uttarakhand Rising) में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की राजनीतिक चतुराई से इतर उनकी एक दूसरी क्वॉलिटी भी उभर कर सामने आई. लोकगीतों के प्रति उनके जुड़ाव ने लोगों का मन मोह लिया. उन्होंने जुबिन नौटियाल (Jubin Nautiyal) के साथ मंच साझा करते हुए लोकगीतों को स्वर दिया. इतना ही नहीं, उनकी फरमाइश पर पहाड़ के मशहूर गायक जुबिन नौटियाल ने ‘जब कोई बात बिगड़ जाए, कोई मुश्किल पड़ जाए, तुम देना साथ मेरा…’ विशेष तौर पर गाया. जुबिन के दिल गलती कर बैठा ने माहौल में जोरदार जोश पैदा कर दिया. इस दौरान जुबिन ने इंटरव्यू में अपने जीवन के कई अनछुए किस्से भी साझा किए.

    पहाड़ की मशहूर आवाज जुबिन नौटियाल ने राइजिंग उत्तराखंड में पहुंचकर धूम मचा दी. उनके पहाड़ी गानों में लोग खो गए. कार्यक्रम के बीच पहुंचे सीएम सीएम पुष्कर सिंह धामी भी खुद को नहीं रोक पाए और वह जुबैन के साथ पहाड़ी गाने को गुनगुनाने लगे. इस दौरान मशहूर गायक जुबिन नौटियाल ने अपनी जन्मस्थली की मिठास को भी बयां किया. उन्होंने कहा कि जौनसार मिनी स्विटजरलैंड है. वहां का मीठा मीठा पानी है. और इस पर न्यूज 18 की एंकर भी कह बैठीं मीठी मीठी आवाज है. जुबिन ने कहा कि जौनसार से निकलकर बॉलीबुड तक पहुंचना एक सपना जैसा था, लेकिन अब उत्तराखंड के लिए बॉलीवुड तक पहुंचना इतना दूर रहा नहीं है. यहां के लोग वहां जाने को तैयार हैं. कलाकार बस लाइफ सेट करना चाहता है.

    मैं बहुत शैतान था, संगीत ने मुझे बचा लिया

    4 साल की उम्र से गाना शुरू करने वाले जुबिन नौटियाल ने कहा कि मैं बहुत शैतान रहा हूं. अगर मैंने संगीत न सीखा होता तो क्या होता. मुझे संगीत ने बचा लिया. मैं जिस तरह की बदमाशी करता था, अगर संगीत ने मेरी लाइफ में आकर इफेक्ट न डाला होता तो मैं यहां न होता. जो मैं आज हूं मैं सबको यह कहना चाहूंगा कि अपनी लाइफ में एक न एक अलग फॉर्म जरूर सीखना चाहिए. वह आपको बहुत सारी चीजों से बचा लेता है.

    Uttarakhand Rising, Jubin Nautiyal Sung by CM Pushkar Dhami Song, Jubin Nautiyal Interview, Pahari Song, Uttarakhandi Songs, Jubin Nautian Special Songs, Dehradun News, Dehradun Latest News, Uttarakhand News, Uttarakhud News Today, Uttarakhand Special Story, Uttarakhand Assembly Elections

    सीएम पुष्कर सिंह धामी और जुबिन नौटियाल की जुगलबंदी ने समां बांध दिया.

    जुबिन नौटियाल ने कहा एक गाना है जो जौनसार का है. हम जब देश विदेश जाते हैं, दुबई जाते हैं दुनिया के सबसे बड़े शहर में ओ साथी ओ साथी.. गाते हैं तो रौंगटे खड़े हो जाते हैं. जौनसारी गाना है इसका मतलब लोगों को समझ नहीं आता है, लेकिन शब्द आ जाते हैं जो अपने आप में बहुत खूबसूरत हैं.

    चैरिटी से जुड़े जुबिन नौटियाल ने कहा कि उन्होंने कोरोना पीड़ितों के लिए फंड जुटाया था. जब अपने घर की बात आती है तो इंसान इमोशनल हो जाता है. जौनसार में कोरोना ज्यादा बड़ी प्रॉब्लम नहीं थी, लेकिन यहां ज्यादा बड़ी प्रॉब्लम थी बेरोजगारी. जॉब नहीं थी. लोगों के पास घर पर कुछ था नहीं, इसलिए मैं और मेरे पिता राम शरण नौटियाल और मेरी दो बड़ी बहनों ने और हमने चमोली पीड़ितों के लिए कांसेप्ट तैयार किया था. वहां की होटल पर गाना गाया तो वहां हजारों की भीड़ जुट गई.

    उत्तराखंड में रिकॉर्ड गानों ने बनाया रिकॉर्ड

    जुबिन ने कहा कि हमने उत्तराखंड में जो गाने रिकॉर्ड किए हैं वह सौ मिलियन के पार गए हैं. उत्तराखंड के पानी में पता नहीं ऐसा क्या है कि यहां रिकॉर्ड किए गए गानों को काफी व्यूज मिले हैं.

    एआर रहमान ने कहा था पहाड़ की आवाज को कायम रखो, वैसा ही किया

    एक सिंगर अपनी जिंदगी में रहमान साहब से मुलाकात आखिर समय में करता है. मेरे साथ उल्टा हुआ था. मुझे पहले म्यूजिक डायरेक्टर रहमान साहब ही मिले. जब मेरी उम्र 18 साल की थी. छोटे शहर में था. रहमान साहब के सामने बैठा और मैंने गाना सुनाया. तब उस से बुरा शायद मैंने कभी लाइफ में नहीं गाया होगा. तब रहमान साहब ने कहा था कि ये पहाड़ी आवाज है. इसकी ऑरिजनल्टी को आप को कायम रखना है. बिल्कुल सही कर रहे हो. मुंबई आओगे तो यहां आपकी और असली आवाज छीन लेंगे. पहाड़ों की आवाज को कायम रखो. मैं उत्तराखंड में ही आ गया. 2014 में मुंबई गया. वहां मैंने गाना गाया. जो मशहूर हो गया. उसके बाद मैं आपके सामने बैठा हूं. मैं कई भाषाओं में गाना गाता हूं, लेकिन वह भाषाएं मुझे बोलनी नहीं आतीं.

    मैं संगीत में ही खोया रहा, लड़कियों ने बहुत प्यार भरे खत भेजे, उन पर ध्यान ही न दे पाया

    कॉलेज लाइफ में लड़कियों से दोस्ती पर जुबिन नौटियाल की आंखों में शर्मीली मुस्कुराहट छलकती दिखी. लेकिन उन्होंने कह दिया कि लड़कियों ने उन्हें खूब खत लिखे. गिटार के गानों पर मोहित कई लड़कियों ने प्यार भरी बातें भी लिखीं, लेकिन मैं संगीत में इस कदर खोया था कि लड़कियों की तरफ ध्यान ही नहीं दिया. संगीतकार ऐसा होता है जिसमें सिंगर को सबसे ज्यादा मजा आता है. हां मैं 12वीं कक्षा में बदमाश जरूर रहा हूं. मेरे माता-पिता से पूछिए कि मैं इतनी बदमाशी करता था कि सस्पेंड तक हो गया था.

    Tags: Dehradun news, Jubin Nautiyal and CM Pushkar Dhami Song, Jubin Nautiyal Interview, Pahari Song, Uttarakhand news, Uttarakhand Rising

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर