उत्तराखंड का पहला डिजिटल रेडियो स्टेशन 'ओहो रेडियो उत्तराखंड' लॉन्च, सीएम ने किया उद्घाटन

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेश का पहला डिजिटल रेडिया लॉन्च किया है.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेश का पहला डिजिटल रेडिया लॉन्च किया है.

उत्तराखंड (Uttrakhand) का पहला डिजिटल रेडियो स्टेशन (Digital Radio Station) 'ओहो रेडियो उत्तराखंड' लॉन्च हो गया है. इसका उद्घायन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Chief Minister Trivendra Singh Rawat) ने किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 11:10 PM IST
  • Share this:

देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) का पहला डिजिटल रेडियो स्टेशन (Digital Radio Station) 'ओहो रेडियो उत्तराखंड' लॉन्च हो गया है. रेडियो की दुनिया में 12 साल का अनुभव रखने वाले आरजे काव्य ने एप बेस्ड डिजिटल रेडियो स्टेशन (App Based Digital Radio Station) स्थापित किया है. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत( CM Trivendra Singh Rawat) ने बुधवार को इसका उद्घाटन किया. काव्य इससे पहले एफएम रेडियो में भी काम कर चुके हैं. तब 'एक पहाड़ी ऐसा भी' प्रोग्राम काव्य का बहुत सराहा गया था.

आर जे काब्य का कहना है कि 'सोच लोकल, अप्रोच ग्लोबल" का विज़न लिए संगीत, साहित्य, स्पोर्ट्स, करियर, पलायन, समाज और उत्तराखंड की हर बात को 'ओहो रेडियो' अपनी आवाज़ देगा. काव्य का कहना है कि ओहो रेडियो को टू-जी इंटरनेट स्पीड पर भी आराम से सुना जा सकता है. मूलतः कुमाऊ निवासी आरजे काव्य से जब पूछा गया की डिजिटल रेडियो स्टेशन का कंसेप्ट उनके दिमाग में कैसे आया तो काव्य का कहना था कि जब वो राजस्थान में रेडियो में काम करते थे तब उनके मन मे कसक होती थी कि काश उनके लोग भी उनकी आवाज को सुन पाते.

Youtube Video

Dehradun News: उत्तराखंड में मुख्यमंत्री और सीएम आवास से जुड़े मिथक तोड़ने जा रहे हैं त्रिवेंद्र सिंह रावत
काव्य का कहना है कि पिछले 12 सालों में एक बार उनकी मां ने कभी रेडियो पर उनकी आवाज नहीं सुनी. इस बात को लेकर उनके मन में डिजिटल रेडियो स्टेशन का विचार आया. आज हर कहीं गांव-गांव तक इंटरनेट हैं. डिजिटल मोड में जाने से एप के जरिए अब रेडियो को कोई भी कहीं भी सुन सकता है. अब इसकी सीमाओं की कोई लिमिटेशन नहीं होगी. उत्तराखंड में एक युवक की पहल पर प्रदेश का पहला रेडियो स्टेशन लॉन्च होने के बाद लोगों को एक शहर का समाचार दूसरे देश और राज्यों तक आसानी से मिल जाएगा. साथ ही पहाड़ों में लोगों को जागरूक करने के लिए मदद मिलेगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज