भारी हिमपात के बाद हर्षिल वैली में बढ़ा हिमस्खलन का खतरा

पानी से बर्फ कटने पर अब नदी का प्रवाह सामान्य हो गया है, लेकिन तापमान में इजाफा होने से इस हिमाच्छादित क्षेत्र में हिमस्खलन का खतरा अब भी बना हुआ है.

  • Share this:
उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के हर्षिल वैली में भारी हिमस्खलन होने से गंगा भागीरथी की एक धारा का प्रवाह कुछ देर के लिए अवरुद्ध हो गया. हालांकि पानी से बर्फ कटने पर अब नदी का प्रवाह सामान्य हो गया है, लेकिन तापमान में इजाफा होने से इस हिमाच्छादित क्षेत्र में हिमस्खलन का खतरा अब भी बना हुआ है.

आपको बता दें कि इस बार सर्दियों में गंगोत्री हिमालय क्षेत्र में हुई भीषण बर्फबारी के चलते गंगोत्री धाम समेत हर्षिल वैली पूरी तरह हिमाच्छादित है. अब तापमान बढ़ने पर इस क्षेत्र में हिमस्खलन का खतरा बढ़ गया है. बीते शनिवार को दोपहर करीब 3.30 बजे मुखबा और जांगला के बीच व्यू प्वाइंट के सामने वाले हिस्से में करीब 600 मीटर ऊंचाई से हुआ हिमस्खलन गंगा भागीरथी तक जा पहुंचा.





गंगोत्री की ओर से लौट रहे पर्यटक इस हिमस्खलन के साक्षी बने. पर्यटक दल में शामिल वेयर ईगल्स डेयर ग्रुप के संचालक तिलक सोनी ने बताया कि हिमस्खलन बर्फ की नदी की शक्ल में नीचे आया और कुछ देर के लिए गंगा भागीरथी के प्रवाह को एक छोर पर अवरुद्ध कर दिया, जिससे यहां कुछ मिनटों पर गंगा भागीरथी का पानी ठहर गया. हालांकि कुछ देर में पानी ने बर्फ को काटकर अपना रास्ता बना लिया और नदी का प्रवाह सामान्य हो गया.
ये भी पढ़ें:- केदारनाथ मंदिर के रास्ते से बर्फ हटाने का काम शुरू, 15 अप्रैल तक सेवाएं होंगी बहाल

ये भी देखें:- VIDEO : नैनीताल में अधिकारियों के चुनावी ड्यूटी पर होने से अवैध निर्माण की बाढ़

ये भी पढ़ें:- कैलाश मानसरोवर यात्रा 8 जून से 8 सितंबर तक चलेगी, 18 दल होंगे शामिल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज