Home /News /uttarakhand /

तीन साल में भी नहीं बन पाया झूला पुल, बच्‍चे जान हथेली में रखकर जाते हैं स्‍कूल

तीन साल में भी नहीं बन पाया झूला पुल, बच्‍चे जान हथेली में रखकर जाते हैं स्‍कूल

विकासखंड नौगांव में ठकराल पट्टी के दर्जनों गावों को जोड़ने वाला रवाडा-नगाण गांवा झूला पुल कार्यदायी संस्था एनबीसीसी की लापरवाही के चलते ढाई साल बाद भी बनकर तैयार नहीं हो पाया है.

आपदा में बहे इस पुल के अभाव में ग्रामीणों और खासकर स्कूली बच्चों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. करीब छह करोड़ की लागत का ये पैदल झूला पुल 2013 से निर्माणाधीन है.

उत्तरकाशी के आपदा ग्रस्त क्षेत्रों में आपदा में ध्वस्त हुए ऐसे आठ जरूरी पुलों का काम एनबीसीसी कंपनी को सौंपा गया है. तय अनुबंध के तहत कंपनी को ये सभी पुल 19 माह में बना देने थे, लेकिन कंपनी के बेहद सुस्त रफ्तार के चलते अभी तक इन पुलों का निर्माण नहीं हो पाया है. इसके चलते आम लोगों को भारी परेशानियों से दो-चार होना पड़ रहा है.

Tags: उत्तराखंड

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर