समाज कल्याण अधिकारी और विधायक केदार सिंह रावत के बीच हुई कहासुनी

उत्तरकाशी में जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में समाज कल्याण अधिकारी और विधायक यमुनोत्री केदार सिंह रावत के बीच स्पेशल कंपोनेंट प्लान की एक योजना को लेकर तू-तू मैं-मैं हो गई. समाज कल्याण अधिकारी ने भरी बैठक में इस योजना को मानक में नहीं होने की बात कहकर आगे भेजने से साफ इंकार कर दिया. डीएम आशीष चौहान और टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह ने प्रतिनिधियों के साथ संयमित भाषा का प्रयोग करने की नसीहत दी और मामले को किसी तरह शांत कराया.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 14, 2018, 10:50 AM IST
समाज कल्याण अधिकारी और विधायक केदार सिंह रावत के बीच हुई कहासुनी
सामूहिक विवाह गृह के निर्माण में रुकावट के कारण हुई कहासुनी.
ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 14, 2018, 10:50 AM IST
उत्तरकाशी में जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में समाज कल्याण अधिकारी और विधायक यमुनोत्री केदार सिंह रावत के बीच स्पेशल कंपोनेंट प्लान की एक योजना को लेकर तू-तू मैं-मैं हो गई. समाज कल्याण अधिकारी ने भरी बैठक में इस योजना को मानक में नहीं होने की बात कहकर आगे भेजने से साफ इंकार कर दिया. डीएम आशीष चौहान और टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह ने प्रतिनिधियों के साथ संयमित भाषा का प्रयोग करने की नसीहत दी और मामले को किसी तरह शांत कराया.

गुस्साए विधायक ने भी कार्य में ढिलाई बरतने को लेकर अधिकारी के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज करने और योजना का धन इधर-उधर करने को लेकर पूरे धन की रिकवरी करने की चेतावनी दी है.

यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत ने कहा कि उनके  घोषणापत्र में यमुनोत्री राजमार्ग पर गंगनानी में एसीपी योजना के अंतर्गत सामूहिक विवाह केंद्र बनाया जाना था जिससे समाज का श्रम समय और पैसा तीनों की बचत होती.

गंगनानी में इस मॉडल बरात घर के बाद अन्य स्थानों पर भी इसी तरह के सामूहिक कार्य किए जा सकते थे.  उन्होंने आरोप लगाया कि  समाज कल्याण अधिकारी जी एस रावत ने नियमों के विपरीत एस्टीमेट भेज दिए और उसमें जरूरी सर्टिफिकेट नहीं लगाया.

जिसके चलते फाइल शासन में ही अटक गई. विधायक ने आरोप लगाया की पांच दस हजार के ठेकेदारी के काम को तत्काल प्रमाण पत्र भी मिल जाता है और स्वीकृति भी, जबकि समाज की सामुहिक जरूरत के इस निर्माण कार्य को बिना वजह अड़ंगे लगाकर रोका जा रहा है.

(रिपोर्टः हरीश थपलियाल)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर