उत्तराखंड: मचा हड़कंप तो डीएम बोले- 129 गांव ऐसे भी हैं, जहां 180 बालिकाओं का जन्म हुआ

उत्तरकाशी के जिलाधिकारी ने कहा कि 166 ऐसे गांव भी हैं जहां 78 लड़के और 88 लड़कियां पैदा हुई हैं.

Jagmohan Singh Chauhan | News18 Uttarakhand
Updated: July 22, 2019, 8:52 PM IST
उत्तराखंड: मचा हड़कंप तो डीएम बोले- 129 गांव ऐसे भी हैं, जहां 180 बालिकाओं का जन्म हुआ
उत्तरकाशी - आशा कार्यकर्ताओं ने जांच की मांग की
Jagmohan Singh Chauhan | News18 Uttarakhand
Updated: July 22, 2019, 8:52 PM IST
उत्तरकाशी जिले के 6 ब्लॉकों के 133 गांवों में पिछले तीन महीनों के आंकड़े चौकाने वाले हैं. इस आंकड़े के मुताबिक बालिका प्रजनन दर में भारी कमी देखी गई है. जैसे ही ये आंकड़े सामने आए पूरे प्रशासन में अफरा-तफरी मच गई. जिलाधिकारी आशीष चौहान ने रेड जोन आशा नाम से अभियान भी शुरू किया. साथ ही विभागीय अधिकारियों को जांच के आदेश दिए.

वहीं सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी इसके सही तथ्यों की जांच के आदेश दिए. इस मामले में डीएम आशीष चौहान का कहना है कि एक दूसरी रिपोर्ट भी सामने आई है. उस रिपोर्ट के अनुसार पिछले तीन महीने में 129 गांव में 180 लड़कियों ने जन्म लिया है. लेकिन कुछ स्थानों में पिछले 3 महीने में बालिकाओं के प्रजनन दर में भारी गिरावट देखी गई है. जिसके कारणों की जांच के लिए जिलास्तरीय अधिकारी भेजे गए हैं. ये अधिकारी एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट डीएम को सौंपेंगे.

लड़का हो या लड़की, ये ऊपर वाले की देन है- आशा कार्यकर्ता

दूसरी तरफ इस मामले में आशा कार्यकर्ताओं ने साफ कहा कि आशा कई सालों से ईमानदारी से काम कर रही हैं. इस मामले की जांच होनी चाहिए और जो भी दोषी है उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. जिलाध्यक्ष आशा कार्यकर्ता सरिता जोशी ने कहा कि ये ऊपर वाले की देन है और वे इसमें कुछ भी नहीं कर सकती हैं. उन्होंने कहा कि ऐसा भी नहीं है कि केवल लड़के पैदा हो रहे हैं. उन्होंने जोर देते हुए कहा लड़के-लड़की दोनों ही जन्म ले रहे हैं. उन्होंने कहा कि उनकी रिपोर्ट में किसी भी तरह का फर्जीवाड़ा नहीं किया गया है. वे अपनी जिम्मेदारी निभा रही हैं.

166 गांव में 78 लड़के व 88 लड़कियों का जन्म हुआ

उत्तरकाशी में लड़के - लड़कियों का जन्म - Uttarkashi- birth of boys and girls
डीएम ने कहा जहां जन्म लेनेवाले लड़के - लड़कियों की संख्या में बड़ा अंतर दिख रहा है वहां जिला स्तर के अधिकारियों को जांच के लिए भेजा गया है.


वहीं उत्तरकाशी के जिलाधिकारी आशीष चौहान ने कहा कि पिछले दिनों आंकड़ा सामने आया कि 133 गांवों में 200 से ज्यादा सिर्फ लड़कों का ही जन्म हुआ है. फिर उन्होंने कहा कि इसी तरह 129 गांवों के आंकड़े बताते हैं कि यहां 180 बालिकाओं का जन्म हुआ है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि 166 ऐसे गांव भी हैं जहां 78 लड़के और 88 लड़कियां पैदा हुई हैं. उन्होंने कहा कि ये आंकड़े मायने रखते हैं. डीएम ने कहा कि जहां जन्म लेनेवाले लड़के - लड़कियों की संख्या में बड़ा अंतर दिख रहा है वहां जिला स्तर के अधिकारियों को जांच के लिए भेजा गया है. ऐसा इसलिए ताकि हमारे सामने ग्रासरूट स्तर की तस्वीर उजागर हो सके.
Loading...

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड: 133 गांवों में तीन महीने से पैदा हुए 218 बच्चे, पर एक भी लड़की नहीं, CM ने दिए जांच के आदेश

ये भी देखें - नए सांसदों ने उत्तराखंड के मुद्दों को दमदार अंदाज में उठाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उत्‍तरकाशी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2019, 8:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...