देखिए पानी का रौद्र रूप... फट गई सड़क, गायब हो गईं गाड़ियां!

Jagmohan Singh Chauhan | News18 Uttarakhand
Updated: August 21, 2019, 1:46 PM IST
देखिए पानी का रौद्र रूप... फट गई सड़क, गायब हो गईं गाड़ियां!
चीवां गांव की महिलाओं ने बताया कि बारिश के बाद उफने गदेरों ने गांव के स्कूलों को बहा दिया. घरों में दरारें पड़ गई थीं और लोग किसी सुरक्षित जगह पर खड़े होकर आपदा के गुज़र जाने का इंतज़ार कर रहे थे.

घरों में दरारें पड़ गई थीं और लोग किसी सुरक्षित जगह पर खड़े होकर आपदा के गुज़र जाने का इंतज़ार कर रहे थे.

  • Share this:
उत्तरकाशी के मोरी ब्लॉक के चीवां में बीते रविवार को बारिश बंद होने के बाद स्थानीय लोगों की ली गई वीडियो सामने आई है. इसे देखकर आपको पानी के रौद्र रूप का पता चलेगा. यह वीडियो देखकर आपको पता लगेगा कि पानी गुज़रने के बाद तबाही के जो निशान दिखते हैं वह कैसे बनते हैं. उत्तरकाशी के आराकोट में बादल फटने के बाद उफने गदेरों ने भारी तबाही मचाई है. अब तक इस आपदा में 15 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है और कई अब भी लापता हैं. शुरुआती अनुमान के अनुसार आपदा से अब तक 130 करोड़ रुपये का नुक़सान हो चुका है.


सड़क कटी, गाड़ियां समाईं 

ये तस्वीरें प्रकृति के सामने इंसान की बेबसी की दास्तान भी कहती हैं. चीवां गांव की महिलाओं ने बताया कि बारिश के बाद उफने गदेरों ने गांव के स्कूलों को बहा दिया. घरों में दरारें पड़ गई थीं और लोग किसी सुरक्षित जगह पर खड़े होकर आपदा के गुज़र जाने का इंतज़ार कर रहे थे. सामने ही गदेरे के कटान के बाद सड़क कट रही थी और एक-एक कर गाड़ियां नीचे गिरती जा रही थी.



मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मंगलवार को आपदा प्रभावित इलाक़ों का दौरा किया था और जल्द से जल्द रास्ते खोलने को कहा था. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा था कि आपदा राहत के कामों में पैसे की कमी नहीं होने दी जाएगी. उन्होंने जिलाधिकारी को फ़सलों के नुक़सान का भी आकलन करने को कहा था और वादा किया था कि उसकी भरपाई की जाएगी.

सेब की फ़सल को भी बचाएं 
Loading...

चीवां गांव की महिलाएं इस वीडियो में यह भी बता रही हैं कि उनकी सेब की फ़सल को पानी बहा ले गया है. मुख्यमंत्री ने भी इस बात का माना था और अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि आपदा ग्रस्त गांवों से जैसे लोगों को निकाला जा रहा है वैसे ही सेब की फ़सल को को सड़क तक लाने की व्यवस्था की जाए. उन्होंने कहा इस सेब पट्टी में किसानों के नुक़सान को कम से कम करने की कोशिश की जानी चाहिए.


ये भी देखें: 

प्राकृतिक आपदा से 130 करोड़ रुपये का नुक़सान, CM ने कहा राहत कार्यों में पैसे की कमी नहीं होगी

तस्वीरों में देखें: जलप्रलय की तबाही के बाद जिंदगी को पटरी पर लाने की कोशिशें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उत्‍तरकाशी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 10:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...