लाइव टीवी

पांच दिन बाद खुला बदरीनाथ हाइवे, केदारनाथ यात्रा फिर से शुरू

ETV UP/Uttarakhand
Updated: June 30, 2015, 10:19 AM IST
पांच दिन बाद खुला बदरीनाथ हाइवे, केदारनाथ यात्रा फिर से शुरू
सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने पांच दिन बाद बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बहाल करने में सफलता हासिल कर ली. बदरीनाथ धाम से 12 किलोमीटर पहले बेनाकुली में क्षतिग्रस्त भाग की मरम्मत का काम भी पूरा कर लिया गया है.

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने पांच दिन बाद बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बहाल करने में सफलता हासिल कर ली. बदरीनाथ धाम से 12 किलोमीटर पहले बेनाकुली में क्षतिग्रस्त भाग की मरम्मत का काम भी पूरा कर लिया गया है.

  • Share this:
सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने पांच दिन बाद बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बहाल करने में सफलता हासिल कर ली. बदरीनाथ धाम से 12 किलोमीटर पहले बेनाकुली में क्षतिग्रस्त भाग की मरम्मत का काम भी पूरा कर लिया गया है.

बदरीनाथ में फंसे छोटे-बड़े 260 वाहन भी वहां से निकाल लिए गए हैं. रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी डॉ. राघव लंगर के अनुसार केदारनाथ के मुख्य पड़ाव सोनप्रयाग के पास मंदाकिनी नदी पर जो पुल टूट गया था उसकी मरम्मत का काम भी लगभग पूरा होने वाला है.

उन्होंने उम्मीद जताई है कि मंगलवार से केदारनाथ के लिए पैदल यात्र शुरू कर दी जाएगी. मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि सरकार की ओर से यात्रियों को फोन पर मौसम की जानकारी दी जाएगी.

इस बीच मौसम के तेवर लगातार बदल रहे है. मौसम खराब होने के कारण गोविंदघाट से बदरीनाथ के बीच हेलीकॉप्टर सेवा शुरू नहीं हो सकी है. हालांकि हेमकुंड के लिए उड़ान शुरू कर दी गई है.

खराब मौसम के बावजूद यात्रियों में उत्साह इतना अधिक है कि प्रशासन की चेतावनी को नजरअंदाज कर गोविंदघाट से 175 यात्री पैदल ही हेमकुंड रवाना हो गए, जबकि 45 यात्री हेलीकॉप्टर से गए.

वहीं दो हजार से ज्यादा श्रद्धालु बदरीनाथ पहुंचे और तीन सौ ने बाबा केदार के दर्शन किए. इसके अलावा सोनप्रयाग में करीब सात सौ यात्री केदारनाथ के दर्शनों के लिए पैदल यात्र शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं. दूसरी ओर गंगोत्री-यमुनोत्री यात्र जारी है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उत्‍तरकाशी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 30, 2015, 10:15 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर