Home /News /uttarakhand /

gangotri national park opens for tourists upto gomukh know adventure options if you plan visit

गंगोत्री नेशनल पार्क के ताले खुले, गौमुख तक जा सकेंगे आप, सैलानियों के लिए एक से बढ़कर एक रोमांच

गंगोत्री नेशनल पार्क पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है.

गंगोत्री नेशनल पार्क पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है.

Uttarakhand Tourism : पिछले दो सालों से कोरोना संक्रमण (Corona Virus) की वजह से गंगोत्री नेशनल पार्क में बहुत कम सैलानी पहुंचे थे. इस साल पार्क प्रशासन को उम्मीद है कि इस बार बड़ी संख्या में पर्यटक और पर्वतारोही (Mountaineers) गंगोत्री नेशनल पार्क का रुख करेंगे. देखिए आप इस पार्क में किस तरह की एक्टिविटी कर सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

बलबीर परमार
उत्तरकाशी. गंगोत्री नेशनल पार्क देश विदेश के पर्यटकों के लिए खुल गया. अपने प्राकृतिक सौंदर्य, वाइल्डलाइफ (Wildlife), एडवेंचर और बर्फ के नज़ारों के लिए पर्यटकों के बीच मशहूर यह पार्क पिछले दो सालों से ठीक तरह संचालित नहीं हो पाया था, लेकिन अब यहां उम्मीद है कि इस बार अच्छी संख्या में पर्यटन देखा जाएगा. उत्तराखंड में चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra) समेत धार्मिक और प्राकृतिक पर्यटन के कई केंद्र सुचारू किए जा रहे हैं क्योंकि पर्यटन राज्य की आय का एक प्रमुख स्रोत है. गंगोत्री नेशनल पार्क के उप निदेशक रंगनाथ पांडे ने कनखू गेट का ताला खोलकर पार्क को गौमुख तक पर्यटकों के लिए खोला. अब यहां नवंबर तक आप सैर सपाटा कर सकेंगे.

गंगोत्री पार्क जहां अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है, वहीं दुर्लभ प्रजाति के स्नो लेपर्ड (Snow Leopard) समेत भरल और भूरा हाथी और भी कई खास वन्य जीवों से भरा पड़ा है. यहां बड़ी संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक एवं पर्वतारोही पहुंचते रहे हैं. वास्तव में, यहां विभिन्न दुर्लभ प्रजाति के जंगली जानवरों के साथ ही चुनौतीपूर्ण ट्रेक भी हैं और ट्रेकिंग (Trekking in Gangotri) के तमाम इंतज़ाम यहां होने से यह एक खासा रोमांचक अनुभव होता है. इसके अलावा, करीब 2,390 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैले हुए इस पार्क में बर्फ के नज़ारे भी पर्यटकों के लिए आकर्षण होते हैं.

नुकसान की भरपाई की उम्मीद
गंगोत्री नेशनल पार्क को पर्यटकों और पर्वतारोहियों के लिए शुक्रवार को खोले जाने से गंगोत्री पार्क स्टाफ काफी उत्साहित दिखा. पार्क रेंजर प्रताप पंवार ने उम्मीद जताई कि पार्क खुलने के बाद पर्यटन और ट्रेकिंग व्यवसाय से जुड़े लोगों को कोरोना से हुए नुकसान की भरपाई करने में मदद मिलेगी. पार्क स्टाफ ने यह भी बताया कि यहां पूरे स्टाफ का कोविड संबंधी वैक्सीनेशन भी हो चुका है.

गौरतलब है कि पार्क के अंतर्गत गंगोत्री धाम सहित भारत-चीन अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटी नेलांग-जाडुंग घाटी, गौमुख और देश की 7000 मीटर ऊंची कई चोटियां हैं, जिन पर हर साल हजारों पर्वतारोही ट्रेकिंग करने के लिए पहुंचते हैं.

Tags: Uttarakhand news, Uttarakhand Tourism

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर