लाइव टीवी

ननिहालियों के प्यार से अभिभूत दिखे जनरल बिपिन रावत... पलायन रोकने के लिए कही यह बड़ी बात
Uttarkashi News in Hindi

News18 Uttarakhand
Updated: September 20, 2019, 3:30 PM IST
ननिहालियों के प्यार से अभिभूत दिखे जनरल बिपिन रावत... पलायन रोकने के लिए कही यह बड़ी बात
सेना प्रमुख बिपिन रावत अपनी पत्नी मधुलिका रावत के साथ अपने ननिहाल थाती गांव पहुंचे. यहां ग्रामीणों के स्वागत और प्यार से जनरल रावत और उनकी पत्नी अभिभूत नज़र आए.

जनरल रावत ने कहा कि यहां विकास हो रहा है, सड़कें बन रही है लेकिन ज़रूरत अब भी यह है कि यहां अच्छे स्कूल, कॉलेज, वोकेशनल ट्रेनिंग के सेंटर्स बनें ताकि युवाओं का कौशल विकास हो उन्हें यहीं नौकरी मिले.

  • Share this:
उत्तरकाशी. सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Army Chief General Bipin Rawat) अपनी पत्नी मधुलिका रावत (Madhulika Rawat) के साथ करीब 10 बजे अपने ननिहाल उत्तरकाशी के थाती गांव (Thati Village of Uttarkashi) पहुंचे. यहां ग्रामीणों के स्वागत और प्यार (warm welcome) से जनरल रावत और उनकी पत्नी अभिभूत नज़र आए. न्यूज़ 18 से बात करते हुए जनरल रावत ने कहा कि अपने ननिहाल आकर उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है. उन्होंने कहा कि वह काफ़ी समय से कोशिश कर रहे थे कि गांव आएं. जनरल रावत ने कहा कि वह चाहते हैं कि उत्तराखंड के पहाड़ों में ख़ुशहाली (Happiness in Uttarakhand Hills) आए, प्रगति हो और वह तभी होगा जब जो लोग यहां से पलायन (Palayan) कर रहे हैं वह वापस आएं. जनरल रावत ने यहीं पहली बार यह भी कहा कि रिटायरमेंट (Retirement) के बाद वह अपने पैतृक गांव (Paternal Village) में ही रहेंगे.

सड़कें बन रही हैं, नौकरी की ज़रूरत है

सेनाध्यक्ष बिपिन रावत ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से राज्य में विकास कार्यों को लेकर उनकी बात होती रहती है. वह मानते हैं कि यहां विकास हो रहा है, सड़कें बन रही है लेकिन ज़रूरत अब भी यह है कि यहां अच्छे स्कूल, कॉलेज, वोकेशनल ट्रेनिंग के सेंटर्स बनें ताकि युवाओं का कौशल विकास हो उन्हें यहीं नौकरी मिले.

इससे पहले सेनाध्यक्ष के थाती गांव पहुंचने पर उनके ममेरे भाई नरेंद्र परमार और ग्रामीणों ने उनका ज़ोरदार स्वागत किया. सेना प्रमुख और उनकी पत्नी ने अपने ममेरे भाई के परिवार को गले लगाकर आतिथ्य स्वीकार किया.



बचपन की यादें कीं ताज़ा

जनरल रावत पहली बार अपनी पत्नी के साथ अपने ननिहाल आए हैं. इस मौके को यादगार बनाने के लिए उनके ननिहालियों ने उनका स्वागत पारंपरिक पकवान स्वाले और दाल के पकौड़ों के साथ अन्य पहाड़ी व्यंजनों के साथ किया.न्यूज़ 18 से बातचीत में उन्होंने अपने बचपन की यादें भी ताज़ा कीं. उन्होंने वादा किया कि सेवानिवृत्ति के बाद वह फिर थाती गांव आएंगे. उन्होंने देर तक ग्रामीणों के साथ समय बिताया और सबसे खुलकर मिले. अपने मामा के मकान को देखकर जनरल रावत बहुत खुश हुए और मामा के परिवार से प्रेम से मिले.

ये भी देखें:

पत्नी के साथ ननिहाल पहुंचे आर्मी चीफ बिपिन रावत, बोले- रिटायरमेंट के बाद गांव में रहूंगा

कश्मीर से कांगो तक बिपिन रावत ने मनवाया लोहा, नाम सुनते ही कांपते हैं आतंकी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उत्‍तरकाशी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 20, 2019, 1:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर