लाइव टीवी

यात्रा शुरू होते ही यमुनोत्री में घोड़े, खच्चर, कंडी वालों से अवैध वसूली शुरू, अधिकारी ख़ामोश
Uttarkashi News in Hindi

News18 Uttarakhand
Updated: April 27, 2018, 2:42 PM IST
यात्रा शुरू होते ही यमुनोत्री में घोड़े, खच्चर, कंडी वालों से अवैध वसूली शुरू, अधिकारी ख़ामोश
यमुनोत्री धाम में तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ते ही जिला पंचायत द्वारा टेंडर से दी गई कुल्ली एजेंसी में भी खुली लूट का सिलसिला भी शुरू हो गया है.

कुल्ली एजेंसी बिना खौफ़ के अपनी मनमानी में तुल गई है और 90 रुपये के बजाय 120 रुपये तक अवैध तरीके से वसूल रही है.

  • Share this:
यमुनोत्री धाम में तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ते ही जिला पंचायत द्वारा टेंडर से दी गई कुल्ली एजेंसी में भी खुली लूट का सिलसिला भी शुरू हो गया है.

जानकी चट्टी से यमुनोत्री धाम तक पांच किलोमीटर मार्ग में जिला पंचायत उत्तरकाशी दवारा कुल्ली एजेंसी के नाम से घोड़ा खच्चर, डंडी और कंडी की व्यवस्था हरेक वर्ष टेंडर के माध्यम से देती है.

टेंडर के अनुसार व्यवस्था शुल्क के नाम पर घोड़ा और कंडी से 90 रुपये प्रति चक्कर के हिसाब से लिया जाना चाहिए. लेकिन कुल्ली एजेंसी बिना खौफ़ के अपनी मनमानी में तुल गई है और 90 रुपये के बजाय 120 रुपये तक अवैध तरीके से वसूल रही है.



इस साल कुल्ली एजेंसी का टेंडर एक करोड़ 20 लाख रुपये में उठा है. टेंडर की रकम कम समय में वसूलने की फिराक में कुल्ली एजेंसी अवैध वसूली पर उतारू हो गई है. घोड़ा-खच्चर संचालकों का कहना है कि प्रशासन और जिला पंचायत का एजेंसी पर नियंत्रण न होने की वजह से यह मनमानी कर रही है.



ये लोग शिकायत करते हैं कि एजेंसी न सिर्फ़ पैसा वसूली में मनमानी कर रही है बल्कि व्यवस्था के नाम पर उन्हें कोई सुविधा नहीं दी जा रही. इस वसूली का भार उन श्रद्धालुओं की जेब पर भी पड़ता है जो घोड़ा डंडी और कंडी का सहारा लेकर यमुनोत्री धाम पहुंचते हैं.

जिला पंचायत अध्यक्ष जशोदा राणा अवैध वसूली के सवाल पर तो कन्नी काट जाती हैं लेकिन यह दावा करती हैं कि घोड़े-खच्चरों के खड़े होने के लिए जल्द ही एक और जगह तैयार की जा रही है.

(नितिन चौहान की रिपोर्ट)
First published: April 27, 2018, 2:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading