Home /News /uttarakhand /

ये कैसा अंधविश्वासः स्कूली बच्चों की अचानक बिगड़ी तबियत तो परिजन पहुंचे झाड़-फूंक करवाने

ये कैसा अंधविश्वासः स्कूली बच्चों की अचानक बिगड़ी तबियत तो परिजन पहुंचे झाड़-फूंक करवाने

बच्चों की तबियत स्कूल में गंदा पानी पीने के कारण खराब हुई.

बच्चों की तबियत स्कूल में गंदा पानी पीने के कारण खराब हुई.

Uttarkashi News: सीमांत जनपद उत्तरकाशी के दूरस्थ विकास खण्ड मोरी क्षेत्र के आराकोट बंगाण के राजकीय इंटर कालेज टिकोची में पिछले कुछ दिनों से स्कूली छात्र/छात्राओं का स्वास्थ्य लगातार बिगड़ती जा रही थी. जिसकी सूचना मिलने पर जिला प्रशासन ने जिला सीएमओ कार्यालय से एक टीम और एक टीम आराकोट स्वास्थ्य केंद्र से मौके के लिए रवाना की. सीमांत जनपद उत्तरकाशी के दूरस्थ विकास खण्ड मोरी क्षेत्र के आराकोट बंगाण का है. यहां पर राजकीय इंटर कालेज टिकोची में पिछले कुछ दिनों से स्कूली छात्र/छात्राओं का स्वास्थ्य लगातार बिगड़ती जा रही थी. जिसकी सूचना मिलने पर जिला प्रशासन ने जिला सीएमओ कार्यालय से एक टीम और एक टीम आराकोट स्वास्थ्य केंद्र से मौके के लिए रवाना की.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट -बलबीर सिंह परमार 

    उत्तरकाशी- आज जमाना पूरी तरह हाईटेक हो चुका है. इंसान मंगल ग्रह पर जीवन की तलाश में जुटा हुआ है. लेकिन आज भी लोग अन्धविश्वास की  जकड़ से खुद को निकाल नहीं पाए हैं. उत्तराखंड के उत्तरकाशी में जब कुछ बच्चे अचानक बीमार पड़ने लगे तो उनके परिजनों ने झाड़-फूंक का सहारा ले लिया. वहीं कुछ बच्चों की माता-पिता उनके लिए हिमाचल के स्वास्थ्य केंद्र की ओर दौड़ पड़े. दरअसल, इन बच्चों की बीमारी का कारण दूषित पानी है, जिस वजह से उनमें लीवर इंफेक्शन (पीलिया) की समस्या देखी गई. स्कूल में बच्चे  जिस पानी को स्कूल में पी रहे हैं. वह काफी गंदा पानी है.

    पूरा मामला सीमांत जनपद उत्तरकाशी के दूरस्थ विकास खण्ड मोरी क्षेत्र के आराकोट बंगाण का है. यहां पर राजकीय इंटर कालेज टिकोची में पिछले कुछ दिनों से स्कूली छात्र/छात्राओं का स्वास्थ्य लगातार बिगड़ती जा रही थी. जिसकी सूचना मिलने पर जिला प्रशासन ने जिला सीएमओ कार्यालय से एक टीम और एक टीम आराकोट स्वास्थ्य केंद्र से मौके के लिए रवाना की.

    मुख्य चिकित्सा अधिकारी के इस चौहान का कहना है कि हमने सूचना मिलते ही नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आराकोट से डॉक्टरों की टीम को राजकीय इंटर कॉलेज टिकोची भेजा था. स्कूल में पढ़ने वाले छात्र/ छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण करवाया गया, जिसमें हमने 30 छात्र छात्राओं का ब्लड सैंपल लिया. 21 छात्र छात्राओं का ब्लड सैंपल जांच के लिए श्रीनगर मेडिकल कॉलेज भेजा गया, जिनकी रिपोर्ट आनी बाकी है,

    उन्होंने बताया कि कुछ छात्रों के ब्लड सैंपल जांच के लिए जिला अस्पताल उत्तरकाशी लाया गया तो पता चला कि बच्चों में लीवर इंफेक्शन (पीलिया) हो रहा है. इसका मुख्य कारण गंदा पानी है. स्कूल में बच्चे जिस पानी को स्कूल में पी रहे हैं, वह काफी गंदा पानी है. इसी वजह से बच्चों का स्वास्थ्य खराब हो रहा था.

    वहीं दूरस्थ क्षेत्र आराकोट बंगाण में स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर न होने के कारण जिन बच्चों का स्वास्थ्य खराब हो रहा है उनमें कुछ हिमाचल प्रदेश के रोहडू में स्वास्थ्य जांच के लिए जा रहे हैं. वहीं कुछ अभिभावक अपने बच्चे के इलाज के लिए अंधविश्वास का सहारा ले रहे हैं. वो झाड़-फूंक के जरिए पीलिया का इलाज करवा रहे हैं, क्योंकि दूरस्थ क्षेत्र आराकोट बांगण में स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल है.

    Tags: Uttarakhand news, Uttarkashi News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर