• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • VIDEO : भारत-तिब्बत संबंधों की याद दिलाता है ये मेला

VIDEO : भारत-तिब्बत संबंधों की याद दिलाता है ये मेला

उत्तरकाशी का पौराणिक माघ मेला 14 जनवरी से शुरू हो रहा है. ये मेला तिब्बत - भारत व्यापारिक संबंधों की याद दिलाता है. बाडाहाट का थौलु अब तक कई तरह के बदलाव देख चुका है. इस बार का माघ मेला पहले की तुलना में कुछ हटकर होगा.

  • Share this:
    उत्तरकाशी का पौराणिक माघ मेला 14 जनवरी से शुरू हो रहा है. ये मेला तिब्बत - भारत व्यापारिक संबंधों की याद दिलाता है. बाडाहाट का थौलु अब तक कई तरह के बदलाव देख चुका है. इस बार का माघ मेला पहले की तुलना में कुछ हटकर होगा.

    स्थानीय संस्कृति के प्रतीक, सरनौल के पांडव लाल गर्म लोहे को चाटते हुए दिखाई देंगे और खौलते तेल में हाथ डालकर पकोड़े तलेंगे. माघ मेले के दौरान इस बार 18, 19 और 20 जनवरी को कुश्ती होगी. इसमें देश भर के पहलवान अखाड़े में उतरेंगे. मेले के दौरान फैशन शो होगा और रोज शाम 6 बजे गंगा आरती की जाएगी. मेले में बदमाशों पर पुलिस के साथ 15 सीसीटीवी कैमरे नज़र रखेंगे. मेला क्षेत्र को 8 सेक्टर में बांटा गया है और सफेद टी-शर्ट में पर्यावरण मित्र सफॉइ कर्मी के रूप में तैनात रहेंगे.

    गंगा किनारे सभी घाटों पर रात में लाइट जगमगाएगी. स्नान के बाद कपड़े बदलने के लिए चेंजिंग रूम बनाए गए हैं. यहां मेले के समापन समारोह में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत शिरकत करेंगे. उस समारोह में मोरी ब्लॉक पर्वत के विशेष वाद्ययंत्र धौंसे का प्रदर्शन किया जाएगा. इस बार मेला स्थल पर देव डोली और उनके पश्वा के नृत्य के लिए अलग से जगह बनायी गयी है. (हरीश थपलियाल की रिपोर्ट)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज