Home /News /uttarakhand /

वेतन की मांग को लेकर धरने पर बैठे दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ के कर्मचारी

वेतन की मांग को लेकर धरने पर बैठे दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ के कर्मचारी

उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल में करीब आठ माह से वेतन नहीं मिलने से आंदोलित दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ के कर्मचारियों ने गुरूवार को दुग्ध संघ मुख्य गेट पर तालाबंदी कर दी और गेट के बाहर धरने पर बैठ गए.

उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल में करीब आठ माह से वेतन नहीं मिलने से आंदोलित दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ के कर्मचारियों ने गुरूवार को दुग्ध संघ मुख्य गेट पर तालाबंदी कर दी और गेट के बाहर धरने पर बैठ गए.

उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल में करीब आठ माह से वेतन नहीं मिलने से आंदोलित दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ के कर्मचारियों ने गुरूवार को दुग्ध संघ मुख्य गेट पर तालाबंदी कर दी और गेट के बाहर धरने पर बैठ गए.

    उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल में करीब आठ माह से वेतन नहीं मिलने से आंदोलित दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ के कर्मचारियों ने गुरूवार को दुग्ध संघ मुख्य गेट पर तालाबंदी कर दी और गेट के बाहर धरने पर बैठ गए.

    कर्मचारियों ने सरकार पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा है कि लंबे समय से वेतन की मांग को लेकर कर्मचारियों की ओर से धरना प्रदर्शन और अनशन किया गया, लेकिन सरकार ने उनकी कोई सुध नहीं ली. कर्मचारियों का कहना है कि एक तरफ तो सरकार गंगा गाय योजना और दुग्ध संघ प्रोत्साहन योजना चला रही है लेकिन जिन कर्मचारियों के कंधों पर इन योजनाओं को चलाने की जिम्मेदारी है जब सरकार वेतन नहीं दे पा रही है.

    उनका कहना है कि अगर इन योजनाओं को चलाने के लिए पैसे नहीं मिले तो ये कैसे चलेंगी. बता दें कि कर्मचारियों की हड़ताल के चलते जिले में करीब 11हजार दुग्ध उत्पादक प्रभावित हो रहे हैं और दुग्ध संघ को रोजाना करीब एक लाख का घाटा हो रहा है, जिससे दुग्ध संघ लगातार वित्तीय घाटे में चल रहा है.

    वहीं अध्यक्ष का कहना है कि लगातार घाटे में चल रहे दुग्ध संघ को उबारने और कर्मचारियों की मांगों पर जल्द कोई निर्णय नहीं लिया गया तो दुग्ध संघ बंद होने की कगार पर पहुंच जाएगा.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर