हर्षिल में फंसे 11 पर्यटकों को सुरक्षित निकाला गया, अभी भी बंद है गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे
Uttarkashi News in Hindi

हर्षिल में फंसे 11 पर्यटकों को सुरक्षित निकाला गया, अभी भी बंद है गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे
उत्तरकाशी - बर्फबारी के कारण अवरुद्ध हैं दो दर्जन से अधिक संपर्क मार्ग

देर शाम मिली खबर के अनुसार उत्तरकाशी के हर्षिल में फंसे 21 पर्यटकों में से 11 को BRO, जिला प्रशासन, SDRF के संयुक्त रेस्क्यू ऑपरेशन के जरिए सकुशल उत्तरकाशी के लिए रवाना कर दिया गया. बाकी के 10 पर्यटक अपनी स्वेच्छा से हर्षिल में अभी भी रुके हुए हैं.

  • Share this:
देर शाम मिली खबर के अनुसार उत्तरकाशी के हर्षिल में फंसे 21 पर्यटकों में से 11 को BRO, जिला प्रशासन, SDRF के संयुक्त रेस्क्यू ऑपरेशन के जरिए सकुशल उत्तरकाशी के लिए रवाना कर दिया गया. बाकी के 10 पर्यटक अपनी स्वेच्छा से हर्षिल में अभी भी रुके हुए हैं. उत्तरकाशी में बीते दिनों हुई भारी बर्फबारी के कारण गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे पर अभी तक यातायात सुचारू नहीं हो सका है. बता दें कि इससे पहले सड़कों पर बर्फ जमने से 2 वाहन चालकों सहित 21 पर्यटक हर्षिल में फंसे हुए थे. इनमें से 11 पर्यटकों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. जिले के करीब दो दर्जन संपर्क मार्गों के अवरुद्ध हो जाने के कारण यमुना घाटी सहित विभिन्न गांवों का उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से संपर्क कटा हुआ है. 21 जनवरी से हो रही बर्फबारी के बाद से गंगोत्री हाईवे पर सुक्की टॉप से आगे यातायात बुरी तरह प्रभावित है. वहीं राडी टॉप व हनुमान चट्टी क्षेत्र में बर्फ की मोटी चादर बिछ जाने से यमुनोत्री हाईवे भी अवरुद्ध हो गया है. इस वजह से संपूर्ण यमुना घाटी का जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है.

उधर, मोरी-नैटवाड़-सांकरी-जखोल, नैटवाड़-सेवा, टिकोची-दुचाणु, पासा-पैंसर, गमरी-मैंजणी सहित करीब 21 संपर्क मोटर मार्ग भी बर्फबारी के कारण अवरुद्ध हो गए हैं. इससे स्थानीय ग्रामीणों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

इस बारे में उत्तरकाशी के जिलाधिकारी आशीष चौहान ने कहा कि हर्षिल के रास्ते चंद घंटों में खुल जाएंगे. उन्होंने कहा कि बर्फबारी में फंसे हुए 21 लोगों को नीचे लाने की तैयारी की जा रही है. ये सभी लोग लगातार प्रशासन से संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि ऊपर के इलाकों में भारी बर्फबारी हुई है. चंद गांवों में बिजली व्यवस्था बहाल कर दी गई है. बाकी के गांवों में 31 जनवरी तक विद्युत आपूर्ति बहाल हो जाएगी.



ये भी पढ़ें - केदारनाथ का संपर्क जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग से पूरी तरह टूटा, 8 फीट तक जमी बर्फ
ये भी पढ़ें - पिथौरागढ़ में बर्फीला पहाड़ दरकने से 35 बकरियों की मौत

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज