उत्तरकाशी में 12 साल की बच्ची के रेप, हत्या के बाद तनावपूर्ण ख़ामोशी, IG ने डेरा डाला

डीएनए सैंपल के लिए सीमेन, नाखून तथा ब्लड के नमूने सुरक्षित रख लिए गए हैं. एसटीएफ के साथ, डॉग स्क्वॉयड की टीम भी तैनात की गई.

News18 Uttarakhand
Updated: August 20, 2018, 2:54 PM IST
उत्तरकाशी में 12 साल की बच्ची के रेप, हत्या के बाद तनावपूर्ण ख़ामोशी, IG ने डेरा डाला
उत्तरकाशी में 12 साल की बच्ची के बलात्कार और हत्या के बाद गुस्साए लोगों से बात करते पुलिसकर्मी.
News18 Uttarakhand
Updated: August 20, 2018, 2:54 PM IST
उत्तरकाशी में एक 12 साल की बच्ची की बलात्कार के बाद हत्या से हड़कंप मचा हुआ है. शनिवार को ज़िले के डुंडा ब्लॉक में शनिवार सुबह बच्ची की लाश मिली थी जिससे लोगों में भारी आक्रोश व्याप्त हो गया था. उसका अंतिम संस्कार भी 35 घंटों के बाद किया जा सका क्योंकि लोग यह घिनौना काम करने वाले की गिरफ़्तारी की मांग कर रहे थे. पुलिस 10 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है, जो सभी बाहरी हैं. हालांकि पुलिस किसी स्थानीय की मामले में संलिप्तता से इनकार नहीं कर रही है और ऐसे संदिग्ध लोगों की सूची बनाई गई है. स्थानीय ग्रामीण मारी गई बच्ची की बड़ी बहन की भूमिका को भी संदिग्ध बता रहे हैं. गढ़वाल के आईजी ने दो दिन से उत्तरकाशी में ही डेरा डाला हुआ है और कहा है कि डीएनए जांच के लिए अदालत से अनुमति मांगी गई है.

रविवार को आरोपियों की गिरफ्तारी तक भारी पुलिस फोर्स की मौजूदगी में बच्ची का अंतिम संस्कार किया गया. पुलिस की निगरानी में मोर्चरी से शव निकालकर उसे अंतिम संस्कार स्थल तक ले जाया  गया. विरोध कर रहे छात्रों को पुलिस ने लाठियां फटकार कर भगाया.

गढ़वाल के आईजी संजय गुंज्याल ने उत्तरकाशी में बच्ची की हत्या को गंभीर बताते हुए कहा कि इसका हल करना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता में है. पुलिस ने डीएनए सैंपल के लिए सीमेन, नाखून तथा ब्लड के नमूने सुरक्षित रख लिए हैं. एसटीएफ के साथ, डॉग स्क्वॉयड की टीम भी तैनात की गई.

आईजी ने बताया कि नैनीताल के संजना केस की तर्ज पर जाच शुरू भी कर दी गई. संजना केस का पर्दाफाश करने वाले एसआई और इंस्पेक्टर को भी मामले की जांच के लिए विशेष तौर पर उत्तरकाशी संबद्ध किया गया है.

आईजी ने कहा कि शहर में किसी तरह की कानून व्यवस्था प्रभावित न हो, इसके लिए पर्याप्त मात्रा में पुलिस फोर्स है. निकटवर्ती जनपदों की पुलिस फोर्स भी बुलाई गई है. बच्ची के अंतिम संस्कार के बाद तनाव भरी ख़ामोशी ज़िले में तारी है और इसे देखते हुए पुलिस पूरी तरह सतर्क है.

(हरीश थपलियाल की रिपोर्ट)

मसूरी में नशीला पदार्थ पिलाकर नाबालिग से बलात्कार

देहरादून में 8 साल की बच्ची से गैंगरेप... 9 से 14 साल के पांच बच्चे आरोपी
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर