उत्तरकाशी जिले में आपदा के बाद कुपोषित बच्चों की संख्या बढ़ी
Uttarkashi News in Hindi

उत्तरकाशी जिले में आपदा के बाद कुपोषित बच्चों की संख्या बढ़ी
मार्च 2017 के बाद से जिले में अचानक बढ़ी अतिकुपोषित बच्चों की तादाद

मार्च 2017 के बाद से जिले में अचानक बढ़ी अतिकुपोषित बच्चों की तादाद

  • Share this:
उत्तरकाशी में कुपोषित और अति कुपोषित बच्चों के आंकड़े पर नजर डाले, तो दैवीय आपदा के बाद इनकी तादाद में लगातार बढ़ोतरी हुई है. मई 2017 के बाद अचानक पुरोला क्लस्टर में अति कुपोषित बच्चों का आंकड़ा बढ़ता दिखाई दे रहा है. जनपद के भटवाडी क्लस्टर में मार्च 2017 के बाद से अचानक अतिकुपोषित बच्चों की तादाद बढ़ रही है.

जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास कार्यालय से प्रति माह शासन को इसकी रिपोर्ट भेजी जाती है. इसके बावजूद अचानक हुए इन परिवर्तन पर विभाग के अधिकारियों के पास कोई सटीक जवाब नहीं है और न कोई कार्य योजना.

अक्टूबर 16 से जून 18 तक कि आकड़ों को देख कर सहज ही अंदाज लगाया जा सकता है कि क्षेत्र विशेष में अति कुपोषित बच्चों की संख्या में अचानक से वृद्धि हो रही है. उत्तरकाशी जिले के प्रभारी बाल विकास अधिकारी संगम सिंह ने बताया कि बच्चों को खाने के पैकेट मुहैया कराने के साथ साथ उनके माता पिता की काउंसलिंग विभाग द्वारा करवाई जाती है.



प्रभारी बाल विकास अधिकारी ने बताया कि जिले में एनएचएम द्वारा भी हमें सहायता मिलती है. एनएचएम के चिकित्सा दल द्वारा जांच की जा रही है कि यह परिवर्तन क्यों हो रहे हैं. प्रभारी बाल विकास अधिकारी ने बताया कि इसके साथ ही जिले के कुपोषित बच्चों का सही विकास हो इसलिए कुछ अधिकारियों ने भी बच्चों को गोद लिया हुआ है.
(रिपोर्ट - हरीश थपलियाल)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज