Home /News /uttarakhand /

why gangotri constituency demands ministry ahead of pushkar dhami cabinet oath ceremony

धामी कैबिनेट: 5 बार से मिथक बरकरार रखने वाली हॉट सीट गंगोत्री की पुकार, 'मंत्री दो सरकार'

उत्तराखंड बनने से अब तक सरकार में कोई मंत्रालय उत्तरकाशी ज़िले के हाथ नहीं लगा.

उत्तराखंड बनने से अब तक सरकार में कोई मंत्रालय उत्तरकाशी ज़िले के हाथ नहीं लगा.

Uttarakhand New Government : कुछ ही घंटों में साफ होने जा रहा है कि इस बार धामी कैबिनेट (Dhami Cabinet) में किन विधायकों को मंत्रालय दिया जाएगा. 23 मार्च की दोपहर नये मुख्यमंत्री (New CM of Uttarakhand) के तौर पर पुष्कर धामी अपनी कैबिनेट के साथ शपथ लेंगे तो तमाम पत्ते खुल जाएंगे, लेकिन इससे पहले उत्तरकाशी (Uttarkashi District) अपनी उपेक्षा की दुहाई देकर मांग कर रहा है कि इस बार सरकार में प्रतिनिधित्व मिले. जबकि गंगोत्री सीट (Gangotri Assembly) का मिथक जुड़ा हुआ है, तो भाजपाई हों या आम लोग, सभी चाह रहे हैं कि उत्तराखंड सरकार की गंगोत्री यहीं से निकले.

अधिक पढ़ें ...

बलबीर परमार
उत्तरकाशी. उत्तराखंड में मुख्यमंत्री का ऐलान होने और नयी कैबिनेट के शपथ ग्रहण समारोह की गहमागहमी के बीच सूबे की सबसे हॉट सीट गंगोत्री विधानसभा से मंत्री पद के लिए मांग ज़ोर शोर से उठ रही है. उत्तराखंड के चुनावी इतिहास में गंगोत्री के साथ एक मिथक जुड़ा रहा, जो इस बार भी कायम रहा है. ऐसे में, स्थानीय भाजपा नेता यह मांग कर रहे हैं कि इस क्षेत्र को सरकार में जगह मिले. इसके पीछे दो बड़ी वजहें बताई जा रही हैं. संभावना है कि दोबारा मुख्यमंत्री बनने जा रहे पुष्कर धामी की नयी कैबिनेट में कम से कम पांच नये चेहरे होंगे तो ऐसे में उत्तरकाशी ज़िले की उम्मीद कितनी पूरी होगी?

दरअसल उत्तर प्रदेश के अविभाजित राज्य के समय से ही गंगोत्री विधानसभा का अब तक का अपना इतिहास और मिथक रहा है. यह ऐसी सीट रही है कि यहां से जिस पार्टी का प्रत्याशी विजयी होता है, उसी पार्टी की सूबे में सरकार बनती है. पूरे प्रदेश में यह सीट अपने मिथक के लिए मशहूर रही. यूपी के समय इस विधानसभा को एक अलग अहमियत दी जाती थी लेकिन उत्तराखंड बनने के बाद से अब तक इस विधानसभा के किसी भी विधायक को मंत्रिमंडल में कभी जगह नहीं मिल पाई. इस बार जनपद में मंत्रालय की मांग ज़ोर पकड़े हुए है.

क्या है मांग और चुनाव परिणाम?
गंगोत्री विधानसभा के स्थानीय भाजपा नेता विजय मखलेगा का कहना है कि पार्टी ने इस बार ज़मीन से जुड़े नेता को टिकट दिया और उन्होंने फिर भाजपा के लिए जीत दर्ज की. मखलेगा ने सवाल उठाया है कि पार्टी की निष्ठा का यह लंबा इतिहास होने के बावजूद इस क्षेत्र को अब तक सम्मानित क्यों नहीं किया गया. उन्होंने इस बार उत्तरकाशी ज़िले से एक कैबिनेट मंत्री बनाए जाने की मांग की.

गंगोत्री विधानसभा में इस बार भाजपा के विधायक सुरेश चौहान पहाड़ पर सबसे ज्यादा मतों से जीतने वाले विधायक हैं. उन्होंने कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण को 8000 से ज्यादा मतों से हराया, तो उन्हें टिकट मिलने से आप प्रत्याशी की इस विधानसभा में ज़मानत ज़ब्त हो गई.

Tags: Oath Ceremony, Uttarakhand Government, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर