होम /न्यूज /उत्तराखंड /इसरो की परीक्षा में उत्‍तराखंड का बेटा टॉपर, पढ़िए इस होनहार ने बिना कोचिंग कैसे पाई सफलता

इसरो की परीक्षा में उत्‍तराखंड का बेटा टॉपर, पढ़िए इस होनहार ने बिना कोचिंग कैसे पाई सफलता

देश के सबसे प्रतिष्ठित वैज्ञानिक संगठन इसरो की चयन परीक्षा में उत्‍तराखंड के अतुल जोशी टॉपर बन गए हैं. खास बात यह है अतुल ने यह सफलता बिना कोचिंग के हासिल की है.

देश के सबसे प्रतिष्ठित वैज्ञानिक संगठन इसरो की चयन परीक्षा में उत्‍तराखंड के अतुल जोशी टॉपर बन गए हैं. खास बात यह है अतुल ने यह सफलता बिना कोचिंग के हासिल की है.

देश के सबसे प्रतिष्ठित वैज्ञानिक संगठन इसरो की चयन परीक्षा में उत्‍तराखंड के अतुल जोशी टॉपर बन गए हैं. खास बात यह है अत ...अधिक पढ़ें

  • News18
  • Last Updated :

    देश के सबसे प्रतिष्ठित वैज्ञानिक संगठन इसरो की चयन परीक्षा में उत्‍तराखंड के अतुल जोशी टॉपर बन गए हैं. खास बात यह है अतुल ने यह सफलता बिना कोचिंग के हासिल की है.

    इलेक्ट्रिशियन का बेटा है अतुल
    होनहार अतुल के पिता संतोषानंद जोशी इलेक्ट्रिशियन हैं. वह मूलरूप से केदारपुरम गांव के रहने वाले हैं उन्‍होंने बताया कि घर की माली हालत ठीक नहीं होने के चलते वह अतुल को ट्यूशन या कोचिंग नहीं दे पाते थे.

    संतोषानंद ने बताया कि अतुल शुरू से ही मेधावी रहा है. वह गेट और इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज में शानदार प्रदर्शन कर चुका है. ग्राफिक एरा से बीटेक अतुल को यूनिवर्सिटी ने सम्मानित किया.

    अतुल ने स्कूली पढ़ाई एसजीआरआर रेसकोर्स से पूरी की है. इसके बाद इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा एआईट्रिपलई दी, लेकिन उसमें कोई अच्छा सरकारी कॉलेज नहीं मिल सका. फिर उसने बीटेक के लिए ग्राफिक एरा में एडमिशन ले लिया. यहां से बीटेक करने के बाद गेट परीक्षा में 99.93 परसेंटाइल हासिल कर एमटेक के लिए आईआईटी में दावेदारी की.

    अभी वह दिल्ली आईआईटी से एमटेक कर रहे हैं. अतुल ने बताया कि उन्होंने इसरो साइंटिस्ट इंजीनियर्स परीक्षा के लिए आवेदन किया और इसकी गंभीरता से तैयारी शुरू की. हालांकि इसके लिए उन्होंने कोई कोचिंग नहीं ली.

    अतुल ने बताया कि इस परीक्षा में उन्हें टॉप टेन में आने की उम्मीद थी, लेकिन वह देशभर में पहली रैंक हासिल करने में कामयाब रहे. कुछ दिन पहले ही उन्होंने संघ लोक सेवा आयोग की इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज परीक्षा में भी 34वीं रैंक हासिल की थी.

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

     

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें