Home /News /uttarakhand /

wasim rizvi alias jitendra narayan will now take retirement expressed desire to propagate sanatan dharma

वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी अब लेंगे संन्यास, सनातन धर्म के प्रचार-प्रसार की जताई इच्छा

जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिज़वी को सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीने की सशर्त ज़मानत दी है.

जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिज़वी को सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीने की सशर्त ज़मानत दी है.

हरिद्वार की धर्मसंसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले में जमानत मिलने के बाद वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी मंगलवार को हरिद्वार पहुंचे थे. यहां उन्होंने निरंजनी अखाड़े के महंत रवींद्र पुरी से मुलाकात की और संन्यास लेने की इच्छा जताई.

अधिक पढ़ें ...

हरिद्वार. उत्तर प्रदेश के शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन और मुस्लमान से हिंदू बने वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी अब संन्यास ले सकते हैं. दरअसल हरिद्वार की धर्मसंसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले में जमानत मिलने के बाद त्यागी उर्फ रिजवी मंगलवार को हरिद्वार पहुंचे थे. यहां उन्होंने निरंजनी अखाड़े के महंत रवींद्र पुरी से मुलाकात की और संन्यास लेने की इच्छा जताई.

रवींद्र पुरी ने इस मुलाकात की जानकारी देते हुए कहा, ‘जितेंद्र त्यागी अब संन्यास लेकर सनातन धर्म का प्रचार-प्रसार करना चाहते हैं. अखाड़े के पदाधिकारी और संत समाज से चर्चा के बाद उनको संन्यास दिलाने के बारे में निर्णय लिया जाएगा.’

ये भी पढ़ें- यूपी में आज इन जगहों पर हो सकती है बारिश, 10 जिलों में यलो अलर्ट जारी

शांभवी पीठाधीश्वर और शंकराचार्य परिषद के अध्यक्ष ने कहा, ‘वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी हिंदू बन गए हैं और अब संन्यास लेना चाहते हैं. जेल से बाहर आने के बाद उन्होंने फिर से अपनी इच्छा जाहिर की है कि वह संन्यास लेना चाहते हैं. इसके लिए अखाड़ा परिषद व अखिल भारतीय विद्वत परिषद से सलाह लेनी पड़ेगी कि वह क्या परंपरा होगी जिसके तहत संन्यास दिलवाया जाएगा.’

ये भी पढ़ें- भाई बनकर ससुराल पहुंच गया प्रेमी, फिर पति ने देख लिया कुछ ऐसा कि पहुंच गया थाने

गौरतलब है कि जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले में 13 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें 17 मई को 3 महीने की सशर्त अंतरिम जमानत मंजूर की थी. सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में शर्त रखी कि वे इस जमानत अवधि के दौरान कोई भड़काऊ भाषण नहीं देंगे. इसके बाद कुछ दिन पहले ही वह जिला कारागार से रिहा होकर बाहर आए हैं.

Tags: Haridwar news, Wasim Rizvi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर