Home /News /uttarakhand /

यादें शेष!! जब स्कूल यूनिफार्म में पहुंचे गए थे CDS जनरल बिपिन रावत और फिर...

यादें शेष!! जब स्कूल यूनिफार्म में पहुंचे गए थे CDS जनरल बिपिन रावत और फिर...

सीडीएस जनरल बिपिन रावत अनुशासन और मिलनसार स्वभाव के लिए हमेशा अपने स्टॉफ, दोस्तों के बीच में अलग पहचान रही है.. फाइल फोटो

सीडीएस जनरल बिपिन रावत अनुशासन और मिलनसार स्वभाव के लिए हमेशा अपने स्टॉफ, दोस्तों के बीच में अलग पहचान रही है.. फाइल फोटो

CDS bipin rawat death: तमिलनाडू के कुन्नूर में सीडीएस बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रेश हो गया. इसमें 14 लोग सवार थे जिनमें से 13 की मौत की पुष्टि कर दी गई. इस हादसे ने सभी को दहला दिया. सीडीएस जनरल बिपिन रावत अनुशासन और मिलनसार स्वभाव के लिए हमेशा अपने स्टॉफ, दोस्तों के बीच में अलग पहचान रही है. 2017 में जब वो देहरादून अपने स्कूल में आये तो उनका स्कूल यूनिफार्म पहनकर कैंपस में आना अमिट छाप छोड़ गया. सेना के उच्च पद पर काबिज़ होने के बाद भी अपनी मिट्टी और अपने गुरू का सम्मान करते रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. तमिलनाडू के कुन्नूर में सीडीएस बिपिन रावत (CDS Vipin Rawat) का हेलिकॉप्टर क्रेश (Helicopter Crash) हो गया. इसमें 14 लोग सवार थे जिनमें 13 की मौत की पुष्टि कर दी गई. सेना की ओर से जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी की मौत की भी पुष्टि की गई. इस हादसे ने सभी को दहला दिया. सीडीएस जनरल बिपिन रावत अनुशासन और मिलनसार स्वभाव के लिए हमेशा अपने स्टॉफ, दोस्तों के बीच में अलग पहचान रही है. 2017 में जब वो देहरादून अपने स्कूल में आये तो उनका स्कूल यूनिफार्म पहनकर कैंपस में आना अमिट छाप छोड़ गया. सेना के उच्च पद पर काबिज़ होने के बाद भी अपनी मिट्टी और अपने गुरू का सम्मान सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने 2017 में अपने स्कूल कैंपस में बखूबी दिखाया.

सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने देहरादून के कैमरॉन हॉल स्कूल में 1969 से 1972 तक क्लास 10 तक की शिक्षा ली. फिर अपने पिता के शिमला पेस्टिंग के दौरान वो भी सीनियर क्लास की स्टडी के लिए शिमला चले गए. वर्तमान में स्कूल के प्रिंसिपल एस सी बीईला बताते हैं कि जनरल बिपिन रावत से उनकी 2 बार मुलाकात हुईं और जब भी मिलते वो स्कूल को लेकर हमेशा बात करते रहे हैं. 2017 में तो वो स्कूल यूनिफार्म पहनकर ही स्कूल के फाउंडर्स डे कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे.

एससी बीईला, कैमरन हॉल स्कूल के प्रिंसिपल कहते हैं कि उनके इंग्लिश के टीचर रहे शांति स्वरूप को जब उन्होंने फाउंडर्स डे कार्यक्रम में देखा तो मंच पर जाने से पहले उनके पैर छुये. सेना में उनके जूनियर रहे रिटायर्ड कर्नल अजय कोठीयाल बताते हैं कि हमेशा एडवाइजर के तौर पर सहयोग करते रहे हैं.

बेटी की शादी में शामिल होने के लिए भी वो गए थे. कोठीयाल के उनसे पारिवारिक संबंध रहे हैं. बहरहाल जनरल बिपिन रावत के कई किस्से हैं जो हादसे के बाद आज उनसे जुड़ा हर व्यक्ति याद कर रहा है.

Tags: Bipin Rawat Helicopter Crash, Bipin Rawat Wife, Cds bipin rawat, Cds bipin rawat death, Indian Army Helicopter Crash, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर