Home /News /videos /

kanpur there was no practical facility in health science department of csjm university after this agreement students will get benefit

कानपुर :-सीएसजेएम यूनिवर्सिटी के हेल्थ साइंस विभाग में नहीं थी प्रैक्टिकल की सुविधा,इस करार के बाद छात्रों को मिले

कानपुर

कानपुर की सीएसजेएम यूनिवर्सिटी 

कानपुर महानगर के छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज विभाग में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के लिए एक अच्छी खबर है.जी हां अब कानपुर यूनिवर्सिटी से हेल्थ साइंसेज की पढ़ाई करने वाले छात्र अब कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज में प्र?

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट :- अखंड प्रताप सिंह ,कानपुर

    कानपुर महानगर के छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज विभाग में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के लिए एक अच्छी खबर है.जी हां अब कानपुर यूनिवर्सिटी से हेल्थ साइंसेज की पढ़ाई करने वाले छात्र अब कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज में प्रैक्टिकल कर सकेंगे.ऐसे में उनको काफी मदद मिलेगी क्योंकि अभी तक सीएसजेएम यूनिवर्सिटी में हेल्थ साइंसेज के बच्चों के लिए प्रैक्टिकल की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं थी.ऐसे में अब जब सीएसजेएम यूनिवर्सिटी और जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के बीच करार होने जा रहा है जिसका सीधा लाभ विश्वविद्यालय के हेल्थ साइंसेज में पढ़ने वाले छात्रों को मिल सकेगा. इतना ही नहीं मेडिकल कॉलेज के कई वरिष्ठ विशेषज्ञ और चिकित्सक बच्चों की सहायता भी करेंगे.जिससे उनको किताबी ज्ञान के अलावा प्रैक्टिकल नॉलेज भी हो सकेगा.

    सीएसजेएम यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज के डायरेक्टर डॉ दिग्विजय शर्मा ने बताया कि कानपुर यूनिवर्सिटी और जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के बीच करार होने से विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को काफी फायदा मिलेगा.क्योंकि अभी तक वह प्रैक्टिकल ज्ञान से वंचित रह जाते थे.ऐसे में अब उन्हें प्रैक्टिकल ज्ञान तो मिलेगा ही इसके अलावा मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ शिक्षकों और चिकित्सकों से उनको काफी चीजें सीखने को भी मिलेंगी.साथ ही आधुनिक तकनीक भी वहां जाकर छात्र सीख सकेंगे.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर