यूपी के स्कूलों का हाल, डीएम के सामने इंग्लिश टीचर ही नहीं पढ़ सकीं चंद लाइनें, VIDEO

यूपी की इस टीचर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

यूपी की इस टीचर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

इंग्लिश टीचर (English Teacher) से इंग्लिश की बुक पढ़ने के लिए कहा तो वह एक भी लाइन नहीं पढ़ सकीं. ये मामला यूपी के उन्नाव जिले में सिकंदरपुर सरोसी का है. इस घटना से जुड़ा वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है. इस घटना के बाद इंग्लिश टीचर को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड करने की सिफारिश कर दी गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 5:39 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. यूपी (Uttar Pradesh) में शिक्षा के गिरते स्तर को बयां करने वाली एक घटना सामने आई है. पिछले दिनों एक स्कूल में जब डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (डीएम) अचानक स्कूल में चेकिंग के लिए पहुंचे तो उन्होंने वहां पर इंग्लिश टीचर (English Teacher) से एक बुक पढ़ने के लिए कहा तो वह एक भी लाइन नहीं पढ़ सकीं. ये मामला यूपी के उन्नाव जिले में सिकंदरपुर सरोसी का है. इस घटना से जुड़ा वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है. इस घटना के बाद इंग्लिश टीचर को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड करने की सिफारिश कर दी गई.

स्कूल का निरीक्षण करने पहुंचे डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट देवेंद्र कुमार पांडेय ने कहा, 'महिला टीचर को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया जाना चाहिए. वह एक इंग्लिश टीचर है. इसके बाद भी वह एक लाइन इंग्लिश में नहीं पढ़ सकतीं.' इंग्लिश टीचर के इंग्लिश न पढ़ पाने की वजह से डीएम काफी उखड़ गए. जब महिला टीचर ने अपनी सफाई पेश करने की कोशिश की तो अधिकारी ने कहा, 'ये क्या है, आप बीए पास हैं, क्या नहीं हैं? मैंने आपसे बुक से ट्रांसलेट करने के लिए नहीं कहा, मैंने किताब से कुछ लाइन आपसे पढ़ने के लिए कहा और आप ऐसा भी नहीं कर सकीं.'

बता दें कि डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट देवेंद्र कुमार पांडेय शुक्रवार को सिकंदरपुर सरोसी में स्कूल के निरीक्षण के लिए अचानक पहुंच गए. उन्होंने पहले क्लास में मौजूद बच्चों से इंग्लिश की किताब में से कुछ लाइनें पढ़ने के लिए कहा. जब बच्चे पढ़ते समय अटकने लगे तो उन्होंने महिला टीचर से किताब की कुछ लाइनें पढ़ने को कहा. अधिकारी ये देखकर खफा हो गए कि टीचर भी उन लाइनों को ढंग से नहीं पढ़ पा रही हैं. इसके बाद डीएम ने बेसिक शिक्षा अधिकारी (BSA) को टीचर को सस्पेंड करने के लिए कहा. बीएसए प्रदीप कुमार पांडेय ने कहा, 'जब डीएम अपनी रिपोर्ट दे देंगे उसके बाद इस मामले में आगे कार्रवाई की जाएगी.'
इससे दो दिन पहले यूपी के ही सोनभद्र का स्कूल भी गलत खबरों के कारण चर्चा में आया था. उस समय प्राइमरी स्कूल में एक लीटर दूध को बाल्टी भर पानी में मिलाकर बच्चों को पिलाने का मामला सामने आया था. हालांकि इसके बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था.



ये भी पढ़ें :- IRCTC की पहली कॉर्पोरेट ट्रेन तेजस में छंटनी, निकाले गए डेढ़ दर्जन कर्मचारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज