सऊदी अरब में मिले 1.20 लाख साल पुराने निशान, इंसानों के पैर होने की संभावना

सऊदी अरब में अलथार झील के आस-पास मिली 376 प्राचीन आकृतियां मिली हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
सऊदी अरब में अलथार झील के आस-पास मिली 376 प्राचीन आकृतियां मिली हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सऊदी अरब (Saudi Arab) में 1 लाख 20 हजार साल पुराने सैकड़ों पैरों के निशान (Foot Mark) मिले हैं और ये इस भौगोलिक क्षेत्र में मानवीय उपस्थिति के शुरूआती सबूतों की ओर इशारा कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 1:49 PM IST
  • Share this:
दुबई. सऊदी अरब (Saudi Arab) में 1 लाख 20 हजार साल पुराने सैकड़ों पैरों के निशान (Foot Mark) मिले हैं और ये इस भौगोलिक क्षेत्र में मानवीय उपस्थिति के शुरूआती सबूतों की ओर इशारा कर रहे हैं. शोधकर्ताओं ने सउदी अरब के नेफुड रेगिस्तान की एक प्राचीन झील के एक सर्वेक्षण के दौरान सैकड़ों जीवाश्म पैरों के निशान (fossilized footprints) की खोज की जो झील की तलछट के कटाव के कारण उजागर हुए थे.

अलथार झील के आसपास मिली 376 प्राचीन आकृतियां

अलथार झील के आस-पास मिली 376 प्राचीन आकृतियों में विशेषज्ञों ने कुछ जानवरों के पैरों के निशान की भी पहचान की जिनमें घोड़े, ऊंट और हाथी के पैरों के निशान शामिल हैं. ये निशान इसलिए भी महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं क्योंकि लगभग 4 लाख साल पहले लेवांत में हाथी विलुप्त हो गए थे. विशेषज्ञों का मानना ​​है कि पैरों के इतने निशानों का मिलना स्पष्ट करता है कि झील के चारों ओर पानी और सूखे की स्थिति के कारण जानवर यहाँ आते थे जबकि मनुष्य पानी और भोजन की तलाश में इस क्षेत्र में आया करते होंगे.



इंसानी पैरों के निशान पाया जाना सबसे आश्चर्यजनक
पाए गए निशानों में सबसे आश्चर्यजनक होमिनिन पैरों निशानों का पाया जाना है. शोधकर्ताओं ने कहा कि अगर इन पैरों के निशानों की पुष्टि हो जाती है तो अरब प्रायद्वीप में मानव प्रजाति के सबसे पहले होने के साक्ष्य माने जाएंगे. मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर केमिकल इकोलॉजी के इस विषय के प्रमुख लेखक मैथ्यू स्टीवर्ट का कहना है "हमें जल्द ही इन खोजों के महत्व का एहसास हो गया.

ये भी पढ़ें: फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन ने कहा- बेलारूस की सत्ता से लुकाशेंको को जाना होगा 

आतंकवाद के मुद्दे पर नेपाल ने पाकिस्तान को लताड़ा, भारत की तारीफ की

शार्ली एब्दो के पुराने ऑफिस के बाहर चाकूबाजी, संदिग्ध आरोपी पाकिस्तानी ​निकला  

शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि ये पैरों के निशान आखिरी इंटरग्लिशियल अवधि के हैं. इंटरग्लिशियल अवधि एक ऐसा समय था जिसमें आर्द्र परिस्थितियों में मानव और पशु मिलकर इस क्षेत्र में रहते थे. शोधकर्ता ने सऊदी अरब में अलाथर झील का सर्वेक्षण करते हुए यह खोज की. शोधकर्ताओं ने कहा कि जीवाश्म और पुरातत्व रिकॉर्डों से पता चलता है कि इन स्थितियों ने मानव प्रवास को अफ्रीका से लेवंत तक बढ़ने में सहायता की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज