101 साल के बुजुर्ग ने दी कोरोना को मात, संक्रमण से ठीक होकर घर लौटे

अमेरिका में कोरोना संक्रमण से 90000 से ज्यादा मौतें हुईं
अमेरिका में कोरोना संक्रमण से 90000 से ज्यादा मौतें हुईं

पिछले हफ्ते 101 साल के एक बुजुर्ग को कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था...

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 6:00 PM IST
  • Share this:
रोम. अपने तरह के इकलौते मामले में 101 साल के एक बुजुर्ग के कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने के बाद भी ठीक होने का मामला सामने आया है. पूरी दुनिया में ये सबसे बुजुर्ग संक्रमित मरीज के ठीक होने का मामला है. बिजनेस लाइन की एक रिपोर्ट के मुताबिक इटली के तटीय शहर रेमिनी के 101 साल के एक बुजुर्ग को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ा था. रिपोर्ट के मुताबिक अब वो बुजुर्ग संक्रमण से ठीक हो गए हैं.

101 साल के उस बुजुर्ग को मिस्टर पी का कोड नेम दिया गया है. मिस्टर पी को पिछले हफ्ते कोरोना वायरस के संक्रमण में पॉजिटिव पाए जाने के बाद रेमिनी के इंफर्म हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था.

खानदान में है वायरस के संक्रमण से बचने का पुराना इतिहास
मिस्टर पी के खानदान में वायरस के संक्रमण से लड़ने का पुराना इतिहास रहा है. 1919 में जन्में मिस्टर पी की मां भी 1918 के फ्लू की महामारी में सुरक्षित बच गईं थीं. उस फ्लू में इटली के 6 लाख नागरिक मारे गए थे.
शिन्हुआ न्यूज एजेंसी के मुताबिक 101 साल के मिस्टर पी वायरस संक्रमण से रिकवर हुए सबसे बुजुर्ग व्यक्ति हैं. बुजुर्ग के ठीक होने पर परिवार बुधवार शाम को उन्हें हॉस्पिटल से घर ले आया.



101 साल के बुजुर्ग के ठीक होने पर नजर आई उम्मीद की किरण
एक टेलीविजन इंटरव्यू में रेमिनी के वाइस मेयर ग्लोरिया लिसी ने बताया कि हॉस्पिटल में सब उन्हीं बुजुर्ग की बात कर रहे हैं. इस घटना से सबको उम्मीद की किरण दिखाई दे रही है. लोग सोच रहे हैं कि जब 101 साल का बुजुर्ग ठीक हो सकता है तो वो क्यों नहीं.

इटली में कोरोना वायरस ने जबरदस्त कहर बरपाया है. ऐसे में 101 साल के एक बुजुर्ग का ठीक होना किसी चमत्कार से कम नहीं है. रिपोर्ट के मुताबिक इटली में वायरस संक्रमण के 80 हजार मामले सामने आ चुके हैं. वायरस की चपेट में आकर 8200 लोगों की जान चली गई है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इटली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सरकार के आधिकारिक आंकड़ों से करीब 10 गुना ज्यादा है. सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी के मुखिया एंजेलो बोरेली ने बताया कि इटली में संक्रमण के कम से कम 6 लाख 40 हजार मामले हैं. रॉयटर के हवाले से कहा जा रहा है कि ऐसे संक्रमित मरीजों की संख्या हजारों में हो सकती हैं, जिनके संक्रमण की जांच कम टेस्ट किट होने के कारण की ही नहीं गई है.

ये भी पढ़ें:-

फोन पर हुई ट्रंप-जिनपिंग की बात, कहा- चीन अमेरिका मिलकर करेंगे कोरोना से मुकाबला
कोरोना वायरस से अमेरिका की हालत चिंताजनक लेकिन सच्चाई स्वीकार नहीं कर रहे ट्रंप
कोरोना वायरस: चीन ने बैन की विदेशियों की एंट्री, शुक्रवार आधी रात से लागू होगा नियम
मास्क को लेकर क्यों है इतना कंफ्यूजन, कुछ देशों में पहनते हैं कुछ में नहीं
कोरोना: अमेरिका में खड़ी हुई बेरोजगारों की फौज, 38 साल का रिकॉर्ड टूटा
मेरे दुश्मन चाहते हैं कि देश बंद रहे ताकि मैं चुनाव हार जाऊं- ट्रंप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज