Home /News /world /

यहां क्रूज में 90 दिनों से फंसे 1500 भारतीयों ने मोदी सरकार से लगाई गुहार

यहां क्रूज में 90 दिनों से फंसे 1500 भारतीयों ने मोदी सरकार से लगाई गुहार

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के संकट के कारण ब्रिटेन के बंदरगाह (Port Of Britain) पर खड़े क्रूज जहाजों (Cruise Ship) में फंसे भारतीय चालक दल के सैकड़ों सदस्यों ने अपनी भारत वापसी की अपील की है.

    लंदन. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के संकट के कारण ब्रिटेन के बंदरगाह (Port Of Britain) पर खड़े क्रूज जहाजों (Cruise Ship) में फंसे भारतीय चालक दल के सैकड़ों सदस्यों ने अपनी भारत वापसी की अपील की है. ऑल इंडिया सीफेरर और जनरल वर्कर्स यूनियन का दावा है कि ब्रिटेन के बंदरगाहों पर खड़े जहाजों में करीब 1500 भारतीय चालक दल के सदस्य फंसे हुए हैं.

    90 दिन से फंसे हैं भारतीय चालक दल के सदस्य

    बंदरगाह पर खड़े जहाजों में से एक का संदर्भ देते हुए यूनियन ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर को पत्र लिखा है. उन्होंने कहा है​ कि यह ब्रिटेन के टिलबरी बंदरगाह पर खड़े जहाज एमवी एस्टोरिया में फंसे चालक दल के 264 भारतीय सदस्यों के संदर्भ में है. 16 जून को लिखे इस पत्र में कहा गया है कि इस कोरोना वायरस महामारी के दौरान हमारे भारतीय नागरिक पिछले 90 दिन से विदेशी जल सीमा में फंसे हुए हैं और उन्हें मदद की जरूरत है. तय उड़ान भी दस्तावेजों की कमी के कारण रद्द हो गई. कई लोगों ने जहाज पर ही भूख-हड़ताल शुरू कर दी है.

    ब्रिटिश समुद्री एवं तटरक्षक एजेंसी (एमसीए) ने उक्त जहाज को जब तक जांच नहीं हो जाती टिलबरी बंदरगाह पर रोक कर रखा है. जहाज का निरीक्षण करने के बाद एमसीए ने एस्टोरिया और उस ऑपरेटर के चार अन्य जहाजों एस्टर, कोलंबस, वास्को डि गामा और मार्को पोलो को भी रोके रखने का आदेश जारी कर दिया.

    ये भी पढ़ें: इस देश के स्वास्थ्य मंत्री पर मास्क खरीदने में घोटाले का आरोप, गिरफ्तार

    चीन ने बांग्लादेश को अपने पक्ष में करने के लिए 5161 उत्पादों से 97% टैरिफ हटाया 

    प्रोटेस्ट के दौरान पुलिस की कार जलाने के लिए महिला को होगी 80 साल की सजा!

    युवती ने पिता का प्राइवेट पार्ट चाकू से काट डाला, 19 साल से कर रहा था उत्पीड़न

    एमसीए ने एक बयान में कहा है कि जहाजों को बंदरगाह पर रोका जाना ब्रिटिश नियमों के तहत एहतियाती कदम है, ताकि उन्हें भेजने से पहले श्रम कानूनों के तहत उनकी पूरी जांच की जा सके. एमसीए का कहना है कि जांच पूरी होने तक जहाज बंदरगाह से नहीं जा सकते.

    Tags: Coronavirus pandemic, England, Modi government

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर