• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • भारत, बांग्लादेश के बीच हो ही गई प्रत्यर्पण संधि

भारत, बांग्लादेश के बीच हो ही गई प्रत्यर्पण संधि

डेली स्टार की रपट के अनुसार बांग्लादेश के गृह मंत्री मुहिउद्दीन खान आलमगीर और शिंदे ने अपने-अपने देश के प्रतिनिधि के रूप में समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

डेली स्टार की रपट के अनुसार बांग्लादेश के गृह मंत्री मुहिउद्दीन खान आलमगीर और शिंदे ने अपने-अपने देश के प्रतिनिधि के रूप में समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

डेली स्टार की रपट के अनुसार बांग्लादेश के गृह मंत्री मुहिउद्दीन खान आलमगीर और शिंदे ने अपने-अपने देश के प्रतिनिधि के रूप में समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

  • Share this:
    ढाका। केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे की दो दिवसीय बांग्लादेश यात्रा के पहले दिन दोनों देशों ने सोमवार को एक प्रत्यर्पण संधि सहित दो महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर किए। डेली स्टार की रपट के अनुसार बांग्लादेश के गृह मंत्री मुहिउद्दीन खान आलमगीर और शिंदे ने अपने-अपने देश के प्रतिनिधि के रूप में समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

    इसके पहले अपनी मुलाकात के बाद दोनों मंत्रियों ने एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में समझौतों की घोषणा की। रपट में कहा गया है कि आतंकवाद से निपटने के लिहाज से तैयार की गई इस प्रत्यर्पण संधि में कुछ इंकार के प्रावधान भी हैं। बांग्लादेश के गृह मंत्रालय के एक अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि यदि किसी व्यक्ति का प्रत्यर्पण राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करता होगा, तो सम्बंधित देश प्रत्यर्पण अनुरोध को खारिज कर सकता है।

    दोनों पक्षों ने एक नई वीजा व्यवस्था पर भी हस्ताक्षर किए, जिसका शीर्षक 'रिवाइज्ड ट्रैवेल अरेंजमेंट' (आरटीए) है। वीजा समझौते के अनुसार, दोनों देशों के व्यापारियों को पांच वर्षीय बहुप्रवेश वीजा दिया जाएगा। जो लोग चिकित्सकीय आधार पर यात्रा करना चाहेंगे, उन्हें दो वर्ष का बहुप्रवेश वीजा दिया जाएगा, जिसे अतिरिक्त एक वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है। चिकित्सकीय उद्देश्य के मामले में किसी मरीज के साथ तीन तिमारदार भी वीजा पाने के हकदार होंगे।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज