एड्स से बचने के लिए USA में सबका HIV टेस्ट होगा जरूरी!

एड्स से बचने के लिए USA में सबका HIV टेस्ट होगा जरूरी!
अमेरिका में एचआईवी जांच को आसान बनाने और एड्स से अपने नागरिकों का बचाव सुनिश्चित करने के लिए सभी लोगों की जांच को अनिवार्य बनाने पर विचार हो रहा है।

अमेरिका में एचआईवी जांच को आसान बनाने और एड्स से अपने नागरिकों का बचाव सुनिश्चित करने के लिए सभी लोगों की जांच को अनिवार्य बनाने पर विचार हो रहा है।

  • Share this:
वाशिंटगटन। अमेरिका में एचआईवी जांच को आसान बनाने और एड्स से अपने नागरिकों का बचाव सुनिश्चित करने के लिए सभी लोगों की जांच को अनिवार्य बनाने पर विचार हो रहा है। एचआईवी संक्रमण के खिलाफ काम रहे डॉक्टरों के एक शीर्ष पैनल ने सरकार को कहा है कि इस रोग से आम नागरिक का बचाव सुनिश्चित करने के लिए 15 साल से 65 साल तक के सभी लोगों की एचआईवी जांच अनिवार्य की जानी चाहिए। विशेषज्ञों को विश्वास है कि उनकी सिफारिश के बाद ज्यादा से ज्यादा लोगों को जांच के लिए प्रेरित किया जा सकेगा।

पैनल के वरिष्ठ सदस्य और स्टैडफोर्ड विश्वविद्यालय में मेडिसन विभाग के प्रोफेसर डॉ. डग ओएन का कहना है कि इस रोग से निदान के लिए शुरुआती उपचार में अच्छे परिणाम आए हैं। इन परिणामों से पता चला है कि अगर रोग का सही समय पर पता चल जाए और फिर उचित इलाज शुरु हो तो रोग को मिटाया जा सकता है। पैनल का मानना है कि सभी वयस्क नागरिकों का परीक्षण अनिवार्य कर दिया जाए तो इस बीमारी को मिटाया जा सकता है।

डॉ. डग ने कहा कि बेहतर इलाज की सुविधा के बावजूद अमेरिका में करीब 12 लाख लोग एचआईवी संक्रमित हैं और करीब 50 हजार नए मामले हर साल सामने आते हैं। उन्होंने बताया कि एचआईवी के जोखिम को कम करने के लिए बने अमेरिकी सुरक्षा सेवा टास्क फोर्स का 2004 में गठन किया गया था। इस संगठन ने गहन अध्ययन के बाद यह रिपोर्ट जारी की है।



उन्होंने कहा कि एचआईवी ऐसा वायरस है जो शरीर को रोग से बचाने वाली कोशिकाओं पर हमला करता है और इसका पता चलने में लंबा समय लगता है। कई बार तो दशकों तक इसका पता नहीं चलता है और जब खुलासा होता है तब तक यह पूरी तरह से शरीर को रोग से बचाने वाली कोशिकाओं को नष्ट कर चुका होता है। यूएसपीएसटीएफ की यह रिपोर्ट सोमवार को प्रकाशित हुई है।
पैनल के एक अन्य सदस्य जैफरी लिनोक्स को उम्मीद है कि उनकी सिफारिशों के तहत हर नागरिक का एचआईवी परीक्षण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस सिफारिश के बाद सभी लोगों के लिए यह परीक्षण जरूरी हो जाएगा और कोई डाक्टर किसी मरीज का एचआईवी परीक्षण नहीं कराने का बहाना नहीं बना सकेगा।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज