उत्तर कोरिया ने पूर्वी तट पर तैनात मिसाइलें हटाईं

पिछले कुछ महीनों से दक्षिण कोरिया और अमेरिका के खिलाफ खुलकर आग उगले रहे उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी तट से दो मुसुदन मिसाइलों को हटा लिया है।
पिछले कुछ महीनों से दक्षिण कोरिया और अमेरिका के खिलाफ खुलकर आग उगले रहे उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी तट से दो मुसुदन मिसाइलों को हटा लिया है।

पिछले कुछ महीनों से दक्षिण कोरिया और अमेरिका के खिलाफ खुलकर आग उगले रहे उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी तट से दो मुसुदन मिसाइलों को हटा लिया है।

  • Share this:
सोल। पिछले कुछ महीनों से दक्षिण कोरिया और अमेरिका के खिलाफ खुलकर आग उगले रहे उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी तट से दो मुसुदन मिसाइलों को हटा लिया है। इससे कोरियाई प्रायद्वीप पर जारी तनातनी के कम होने की उम्मीद की जाने लगी है। पिछले महीने ही उत्तर कोरिया ने पूर्वी तट पर इन दोनों मिसाइलों को तैनात किया था। उसने कथित तौर पर इसे लांच करने की भी तैयारी कर ली थी। मिसाइलों की तैनाती से अमेरिका और दक्षिण कोरिया के ठिकानों पर परमाणु हमले का खतरा पैदा हो गया था और कोरियाई प्रायद्वीप पर पहले से अधिक तनाव पैदा हो गया था।

मुसुदन मिसाइल मध्यम दूरी की मारक क्षमता वाली मिसाइल है। इनकी मारक क्षमता तीन हजार से 3500 किलोमीटर तक की है। अभी तक उत्तर कोरिया ने इसका परीक्षण भी नहीं किया है। अमेरिका ने मिसाइलों की तैनाती के बाद उत्तर कोरिया को अप्रैल में चेतावनी दी थी कि अगर उसने इन्हें लांच किया तो यह उसकी सबसे बड़ी भूल होगी। उत्तर कोरिया कई बार अमेरिका और दक्षिण कोरिया पर हमला करने की चेतावनी देता रहा है लेकिन मिसाइल हटाने के उत्तर कोरिया के कदम से दक्षिण कोरिया के साथ उसके संबंधों में सुधार होने की उम्मीद बढ़ गई है।

हालांकि अमेरिकी अधिकारी उत्तर कोरिया के इस कदम से पूरी तरह आश्वस्त नहीं हुए हैं और वह उसके इस कदम को भी आशंका से देख रहे हैं। एक अधिकारी के मुताबिक उत्तर कोरिया ने पूर्वी तट से तो अपनी मिसाइलें हटा ली है लेकिन वह इनकी तैनाती कहीं और भी कर सकता है और उसे कुछ समय बाद लांच कर सकता है।



हालांकि अधिकतर अमेरिकी अधिकारियों का मानना है कि उत्तर कोरिया मिसाइलों को प्रक्षेपित करने के बारे में अब नहीं सोचेगा। इन मिसाइलों को अब गैर संचालित जगह पर भेजा जा चुका है। पेंटागन के प्रवक्ता जार्ज लिटिल ने मिसाइलों को हटाए जाने के उत्तर कोरिया के कदम पर सीधे तौर पर टिप्पणी करने से तो इनकार कर दिया लेकिन साथ ही यह भी कहा है कि अब उत्तर कोरिया ने अपने तीखे तेवर ठीक करने की शुरुआत कर दी है। दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री ने मिसाइल हटाने की खबर की पुष्टि करने से इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि उन्हें अभी इसकी जानकारी नहीं मिली है कि मिसाइल हटा ली गई है।
ऐसा माना जा रहा है कि मंगलवार को अमेरिका के राष्ट्रपति आवास व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क ग्यून ही लंच करने वाले हैं। इस लंच में उत्तर कोरिया भी शामिल हो सकता है।

गौरतलब है कि बीते फरवरी में उत्तर कोरिया के तीसरे परमाणु परीक्षण के बाद कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव पैदा हो गया था। उत्तर कोरिया संयुक्त राष्ट्र की ओर से लगाए गए ताजा प्रतिबंधों से नाराज था और उसने अमेरिका और दक्षिण कोरिया के संयुक्त सैनिक अभ्यास पर भी गहरी आपत्ति दर्ज की थी। इसके बाद से उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के पहले से बिगड़े संबंध में और अधिक कड़वाहट आ गई थी। उत्तर कोरिया ने कुछ दिन पहले इसी तल्खी की भावना के साथ एक अमेरिकी नागरिक को उत्तर कोरिया की सत्ता पलटने की कोशिश के आरोप में 15 साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई थी।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज