दुनिया में 24 घंटे में कोरोना के 2.28 लाख मामले दर्ज, ट्रंप ने मास्क ना पहनने का फैसला किया

दुनिया में 24 घंटे में कोरोना के 2.28 लाख मामले दर्ज, ट्रंप ने मास्क ना पहनने का फैसला किया
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

कोरोना से सबसे बुरी तरह प्रभावित अमरीका में 24 घंटे में 65,551 मामले दर्ज किए गए हैं. इसके बावजूद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) ने मास्क नहीं पहनने का फैसला किया है.

  • Share this:
वाशिंगटन. दुनिया में बीते 24 घंटों में कोरोना (Coronavirus) संक्रमितों की संख्या में रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज की गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (World health Organisation) के अनुसार बीते 24 घंटों में दुनिया में कोरोना के कुल 2,28,102 मामले दर्ज किए गए हैं. कोरोना से सबसे बुरी तरह प्रभावित अमरीका में 24 घंटे में 65,551 मामले दर्ज किए गए हैं. कोरोना संक्रमितों की संख्या 31.73 लाख तक हो गई है. इसके बावजूद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) ने मास्क नहीं पहनने का फैसला किया है.

अमेरिका में अब तक 1.34 लाख लोगों की गई जान

कोरोना वायरस अब तक अमरीका में क़रीब 1.34 लाख लोगों की जान ले चुका. अमरीका के बाद कोरोना से बुरी तरह प्रभावित ब्राज़ील में संक्रमितों की संख्या 17.55 लाख हो गई है. यहां कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 70 हज़ार पार कर पहुंच चुका है.



हॉस्पिटल मास्क पहनने की सबसे उपयुक्त जगह: डोनाल्ड ट्रंप
टंप ने फॉक्स न्यूज से एक इंटरव्यू में कहा कि वह शनिवार को मैरीलैंड प्रांत के बेथेस्डा हॉस्पिटल के दौरे पर वह मास्क पहनेंगे. उन्होंने कहा कि आप किसी हॉस्पिटल में होते हैं तो मेरी समझ में यह मास्क पहनने की सबसे उपयु​क्त जगह होती है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने मार्च से ही चेहरे को ढंकने के लिए कुछ भी पहनने की बात से इंकार किया हुआ है.

ये भी पढ़ें: अमेरिका ने चीन के 3 अधिकारियों पर लगाया बैन, VISA पर भी लगाई पाबंदी, जानें क्यों...

PM मोदी को धमकी देने वाली ये सिंगर छोड़ना चाहती है पाकिस्तान, कहा- 'इंडियन ज्यादा अच्छे हैं'

वहीं गिलियड ने कहा कि एक लेट-स्टेज चरण के अध्ययन में इलाज कराने वाले 312 मरीजों के डेटा का विश्लेषण किया और अध्ययन में उसी तरह की विशेषताओं और रोग की गंभीरता के साथ 818 मरीजों की अलग तरह से परीक्षण किया गया. कंपनी ने कहा कि इसके लेट-स्टेज अध्ययन के विश्लेषण से पता चला कि रेमडेसिवीर से उपचार किए जा रहे 74.4% मरीज 14 दिनों में ठीक हो गए, जबकि आमतौर पर यह दर 59.0 फीसदी रहा था. विश्लेषण में रेमडेसिवीर के साथ इलाज किए गए मरीजों की मृत्यु दर 14 दिन में 7.6 फीसदी रही, जबकि रेमडेसिवीर के बिना इलाज किए जा रहे रोगियों में मृत्यु की दर 12.5 फीसदी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading