• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • पुतिन-एर्दोगन की मुलाकात से पहले मारे गए 2 तुर्की सैनिक, सरायकेब पर असद सेना का कब्जा

पुतिन-एर्दोगन की मुलाकात से पहले मारे गए 2 तुर्की सैनिक, सरायकेब पर असद सेना का कब्जा

मॉस्को में 5 मार्च को पुतिन और एर्दोगन की मुलाकात होनी है

मॉस्को में 5 मार्च को पुतिन और एर्दोगन की मुलाकात होनी है

तुर्की ने इदलिब में जब से सैन्य अभियान शुरू किया है तब से अब तक 59 तुर्की सैनिक मारे गए हैं जबकि लाखों लोग भीषण युद्ध के चलते इलाके को छोड़ कर भागने को मजबूर हुए हैं

  • Share this:
    रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन और तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयब एर्दोगन की 5 मार्च को मॉस्को में मुलाकात है. लेकिन इस मुलाकात के पहले सीरियाई सेना ने तुर्की के 2 और सैनिकों को मार गिराया है. उत्तर-पश्चिम सीरिया के इदलिब प्रांत में तुर्की समर्थित विद्रोहियों से जंग के दौरान 2 तुर्की सैनिकों की मौत हो गई जबकि 9 घायल हो गए हैं.

    अल ज़ज़ीरा के मुताबिक तुर्की ने इदलिब में जब से सैन्य अभियान शुरू किया है तब से अब तक 59 तुर्की सैनिक मारे गए हैं. जबकि लाखों लोग भीषण युद्ध के चलते इलाके को छोड़ कर भागने को मजबूर हुए हैं.

    तुर्की ने भी सीरिया के 3 लड़ाकू विमानों को मार गिराया है और दर्जन भर से ज्यादा सीरियाई सैनिकों को मार गिराया है.  लेकिन इस भीषण लड़ाई में रूस की मदद से सीरियाई सेना ने इदलीब प्रांत के सरायकेब शहर पर दोबारा कब्जा कर लिया है. ये कब्जा उसे रूसी सेना के हवाई हमलों की बदौलत मिल सका है. इस हमले में 11 नागरिकों को भी अपनी जान गंवानी पड़ गई है.

    उत्तर-पश्चिम सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल असद की सेना विद्रोहियों को पीछे धकेलने में कामयाब रही है. सीरिया में जारी युद्ध पर नज़र रखने वाली ब्रिटेन की एजेंसी सीरियन ऑब्ज़र्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने दावा किया है कि सीरियाई सेना ने सरायकेब पर पूरी तरह नियंत्रण हासिल कर लिया है.

    वहीं सीरिया की सरकारी समाचार एजेंसी सना ने भी सरायकेब पर सीरियाई सेना के दोबारा कब्जे की पुष्टि की है. 4 दिन पहले ही तुर्की समर्थित विद्रोही संगठनों ने साराकेब शहर पर कब्जा किया था. लेकिन सरायकेब से खदेड़े जाने के बावजूद तुर्की समर्थित विद्रोहियों ने भीषष जंग छेड़ रखी है. ये विद्रोही सरायकेब शहर पर दोबारा कब्जे की कोशिश कर रहे हैं. इस शहर के अंतर्राष्ट्रीय राजमार्ग से सटे होने की वजह से सामरिक और कूटनीतिक महत्व है. इस शहर से सीरिया का महत्वपूर्ण एम 5 मार्ग देखा जा सकता है जो कि दक्षिण सीरिया में जॉर्डन की सीमा से होते हुए अलेप्पो शहर तक जाता है.

    सरायकेब पर तुर्की समर्थित विद्रोहियों का था कब्जा

    इदलीब प्रांत में महत्वपूर्ण माने जाने वाले इस अंतिम विद्रोही गढ़ पर कब्जे के लिए सीरियाई सेना 8 फरवरी से कोशिश कर रही थी. सीरियाई के विद्रोहियों को तुर्की का पूरा समर्थन हासिल है. इस दौरान तुर्की के लड़ाकू विमानों ने सीरिया के खिलाफ अपने हमले तेज़ करते हुए 19 सीरियाई सैनिक मार गिराए. तुर्की के लड़ाकू जेट ने इदलिब प्रांत में सीरिया के 4 लड़ाकू विमानों को मार गिराया था. साथ ही उसने रूस निर्मित टैंकों और वायु रक्षा प्रणाली तबाह करने का दावा किया था. तुर्की ने अपने ऑपरेशन को जारी रखने का ऐलान किया है. सीरिया के विद्रोही इस्लामी लड़ाकों का तुर्की खुल कर समर्थन कर रहा है. जबकि रूस सीरिया के साथ शुरुआत से डटा हुआ है.

    संयुक्त राष्ट्र ने की युद्धविराम की अपील

    सीरिया और तुर्की के बीच बढ़ते सैन्य तनाव को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंटोनियो गुटेरस ने तत्काल युद्धविराम की अपील की है. गुटरेस ने कहा कि यदि ऐसा न हुआ तो जोखिम और तनाव दोनों ही बढ़ जाएंगे. वहीं सीरिया ने धमकी देते हुए कहा है कि वो अपने वायु क्षेत्र में किसी भी विमान के घुसने पर उसे मार गिराएगा. ऐसे में अब चरम पर तनाव देखते हुए पुतिन के साथ एर्दोगन की मुलाकात पर सबकी नज़रें हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन