जापान में प्रलंयकारी बाढ़ में 20 लोगों की मौत, लाखों लोगों से घर खाली कराया

जापान में प्रलंयकारी बाढ़ में 20 लोगों की मौत, लाखों लोगों से घर खाली कराया
जापान में प्रलंयकारी बाढ़ में 20 लोगों की मौत

जापान में बाढ़ (Flood) और भूस्खलन के चलते 20 लोगों की जान (Twenty People Died) चली गई है. इस बाढ़ की यह घटना दक्षिणी जापान (South Japan) में घटी है.

  • Share this:
टोक्यो. जापान में बाढ़ (Flood) और भूस्खलन के चलते 20 लोगों की जान (Twenty People Died) चली गई है. इस बाढ़ की यह घटना दक्षिणी जापान (South Japan) में घटी है. जापान के दक्षिण में मौजूद क्यूशू द्वीप पर हुई मूसलाधार बारिश (Heavy Rainfall) के कारण हुए भूस्खलन और बाढ़ से एक नर्सिंग होम में पानी घुस आए जिसके चलते कम से कम 20 लोगों की मौत हुई है. प्रशासन ने लाखों लोगों को अपना घर खाली करने को कहा है. यहां के कुमामोटो प्रांत में कुमा नदी अपने सामान्य स्तर से भी ऊपर बह रही है. बाढ़ के चलते करीब एक दर्जन ओल्ड एज होम तहस-नहस हो गया. कुमामोटो में 6,000 हजार से ज्यादा घरों की बिजली गुल हो गई है.

पीएम शिंजो आबे ने कहा- अधिक सतर्क रहें लोग

प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे ने 10,000 सैनिकों को बचाव कार्य में तैनात करने का आदेश दिया है. प्रधानमंत्री आबे ने कहा है कि रविवार तक भारी बारिश की आशंका है, ऐसे में लोग 'अधिक सतर्क' रहें. सेना के साथ कोस्टगार्ड और फायर ब्रिगेड कर्मचारी बाढ़ से बचाव के लिए जारी अभियान में भाग ले रहे हैं.



कुमामोटो और कगोशिमा में भारी तबाही
क्यूशू द्वीप पर भारी बारिश से कुमामोटो और कगोशिमा प्रांत अधिक प्रभावित हुए हैं. यहां बहुत सारे घरों और भवनों में पानी भर गया है और बहुत सारी गाड़ियां बाढ़ में डूब गई हैं. भूस्खलन की वजह से कई मकान ध्वस्त हो गए. सैनिक लोगोंं को बाढ़ से बचाने के लिए मकान की छतों का सहारा ले रहे हैं.

'दो मंजिला छत तक चढ़ आया पानी'

कुमामोटो गांव के एक बुजुर्ग ने बताया कि केयर होम में पानी भर जाने के बाद राहत और बचाव दल ने अपना अभियान चलाया. यह अनुमान लगाया जा रहा है कि शनिवार को 14 लोग मारे गए. अधिकारियों ने बताया कि बचाव का कार्य रविवार को भी जारी है.

ये भी पढ़ें: यहां 31 लोगों की हत्या के बाद बदले की कार्रवाई में 9 सैनिकों को मार डाला

जानिए क्यों, WHO ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन समेत इन दवाओं के परीक्षण पर लगाया रोक

करीब चार दर्जन लोगों अभी भी नदी के इलाके में जबकि 60 लोग कीचड़ में फंसे हुए हैं. वहीं हितोयोशी सिटी की एक 55 वर्षीय महिला ने बताया कि बाढ़ का पानी बहुत तेजी से दो मंजिले छत तक पहुंच गया. यह घटना इतनी तेजी से घटी कि हमारा डर के मारे बुरा हाल हो गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading