फ्रांस में चर्च पर हमला: 3 लोगों की हत्या, महिला का सिर काटा, मेयर ने कहा- ये आतंकी हमले जैसा

फोटो सौ. (ट्विटर)
फोटो सौ. (ट्विटर)

फ्रांस के नीस (Nice) में संदिग्ध आतंकी हमले (Terror Attack) में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई है. फिलहाल मौके पर सभी इमरजेंसी सेवाएं मौजूद हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 4:07 PM IST
  • Share this:
पेरिस. पैगंबर कार्टून विवाद में फ्रांस में टीचर की गला काटकर हत्‍या (Murder) के बाद अब इसी तरह एक और हत्‍या का मामला सामने आया है. फ्रांस के एक चर्च (Church) में एक हमलावर ने एक महिला का गला काट दिया और दो अन्‍य लोगों की चाकू मारकर निर्मम तरीके से हत्‍या कर दी. यह घटना फ्रांस के नाइस शहर में हुई है. शहर के मेयर ने इस खौफनाक घटना को आतंकवाद करार दिया है.

मेयर क्रिस्चियन इस्‍तोर्सी ने कहा कि चाकू से यह हमला शहर के नोट्रे डेम चर्च में हुई है. पुलिस ने हमलावर को अरेस्‍ट कर लिया है. पुलिस ने बताया कि तीन लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है. कई अन्‍य घायल हो गए हैं. एक पुलिस सूत्र ने कहा कि महिला का गला काटा गया है. फ्रांस के एक नेता ने भी इस बात की पुष्टि की है कि महिला का गला काटा गया है.

Three people killed, including a woman who was decapitated, in the knife attack in the French city of Nice, says police. The city's mayor describes the incident as "terrorism": Reuters https://t.co/VCMumIAAt6





चर्च को घेर लिया गया है
फ्रांस के आतंकवाद निरोधक विभाग ने कहा कि उसे इस हमले के जांच की ज‍िम्‍मेदारी दी गई है. घटनास्‍थल पर मौजूद पत्रकारों का कहना है कि हथियारबंद जवानों ने चर्च को घेर लिया है. मौके पर एंबुलेंस और फायर सर्विस की गाड़‍ियां मौजूद हैं. यह हमला ऐसे समय पर हुआ है जब कुछ समय पहले ही फ्रांसीसी टीचर की पैगंबर का कार्टून द‍िखाने पर हत्‍या कर दी गई थी. यह अभी तत्‍काल स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है कि चर्च में चाकू हमला करके लोगों की हत्‍या करने के पीछे मकसद क्‍या था या इसका पैगंबर के कार्टून से कोई मतलब है. इससे पहले फ्रांस में पैगंबर का कार्टून द‍िखाने पर एक टीचर की गला काटकर हत्‍या कर दी गई थी. इस घटना के बाद फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने अभिव्‍यक्ति की आजादी और धर्म का उपहास उड़ाने के अध‍िकार का जमकर समर्थन किया है. हालांकि इसके बाद से वह मुस्लिम देशों की आलोचना का शिकार हो गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज