द. कोरिया में 42% विदेशी पत्नियां होती हैं घरेलू हिंसा की शिकार, इन दंपतियों को मिलती है सब्सिडी

द. कोरिया में 42% विदेशी पत्नियां होती हैं घरेलू हिंसा की शिकार, इन दंपतियों को मिलती है सब्सिडी
द. कोरिया में 42 फीसदी विदेशी पत्नियां होती हैं घरेलू हिंसा की शिका. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दक्षिण कोरियाई सरकार (South Korean Government) अपने यहां के पुरुषों को विदेशी महिलाओं (foreign brides) से शादी करने के लिए प्रोत्साहित करती है. पुरुष शादी करके विदेशी महिलाओं को ले भी आते हैं लेकिन उन्हें बहुत प्रताड़ित करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 3, 2020, 12:09 PM IST
  • Share this:
सिओल. दक्षिण कोरियाई सरकार (South Korean Government) अपने यहां के पुरुषों को विदेशी महिलाओं (foreign brides) से शादी करने के लिए प्रोत्साहित करती है. पुरुष शादी करके विदेशी महिलाओं को ले भी आते हैं लेकिन उन्हें बहुत प्रताड़ित करते हैं. विदेशों से शादी करके दक्षिण कोरिया आने वाली 42 फीसदी महिलाएं घरेलू हिंसा (Domestic Violence) का शिकार होती हैं.

भाषा की दिक्कतों के बाद वियतनामी महिला ने कोरियाई पुरुष से शादी की

50 साल से ज्यादा उम्र के कोरियाई पुरुष ने वियतनाम की एक 29 साल की महिला का चयन शादी के लिए किया. महिला सिर्फ वियतनामी भाषा बोल पाती है जबकि पुरुष केवल कोरियन भाषा में बात कर सकता है. भाषा की इन दिक्कतों के बावजूद दोनों ने एक दिन मुलाकात की और उसके अगले दिन 4 नवंबर 2018 को शादी कर ली. यह शादी वियतनाम में महिला के घरवाालों की मौजूदगी में हुई.



वियतनाम से द. कोरिया जाने के तीन महीने बाद ही हो गया मर्डर
सात महीने बाद ट्रिन्ह बदला हुआ नाम अपने पति शीन के साथ दक्षिण कोरिया चली गई. तीन महीने के बाद ट्रिन्ह की मौत हो गई. वह उन हजारों में एक वियतनामी महिला है जिसने दक्षिण कोरियाई व्यक्ति से शादी की थी. उसने यह शादी मैचमेकिंग वेबसाइट के जरिये की थी. इस तरह की शादी को दक्षिण कोरिया की सरकार ना केवल बढ़ावा देती है बल्कि स्थानीय प्रशासन ऐसे दंपति को कई तरह सब्सिडी भी देती है. हालांकि, ऐसी कई शादियां सफल हैं और कई दंपति बहुत खुशहाल जीवन बिता रहे हैं. परंतु ऐसी ज्यादातर शादियों में भेदभाव का व्यवहार महिलाओं के साथ किया जाता है. महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा और यहां तक पति अपनी पत्नियों का मर्डर तक कर देते हैं.

ये भी पढ़ें: अफगानिस्तान: आईएस ने जेल तोड़कर 75 कैदियों को छुड़ाया, 5 की हत्या और 40 घायल

PAK एयरलाइंस क्रेबिन क्रू का ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट अनिवार्य, कॉकपिट में स्मोकिंग की मिली थी शिकायत

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अनुसार, वर्ष 2017 में एक सर्वे के अनुसार 42 फीसदी विदेशी पत्नियों को घरेलू हिंसा का शिकार होना पड़ता है. उन्हें शारीरिक, मौखिक, सेक्सुअल और वित्तीय प्रताड़ना का शिकार होना पड़ता है. दक्षिण कोरिया के जेंडर इक्वालिटी और फैमिली मिनिस्ट्री के एक सर्वे के अनुसार विदेशी पत्नियों की तुलना में देश की महिला घरेलू हिंसा की शिकार कम होती हैं. देश की 29 फीसदी महिलाएं शादी के बाद अपनी पति की प्रताड़ना का शिकार होती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज