दुनिया भर में 47 करोड़ लोग बेरोजगार : संयुक्‍त राष्‍ट्र

रिपोर्ट में इस बात की आशंका जताई गई है कि कारोबार में आई सुस्‍ती की वजह से बेरोजगारी की दर और बढ़ सकती है.

आइएलओ के प्रमुख गाइ राइडर ने कहा है कि लाखों कामकाजी लोगों के लिए काम के माध्यम से बेहतर जीवन का निर्माण करना मुश्किल हो रहा है. यह स्थिति लोगों को बेहतर अवसर पाने और अच्‍छे भविष्‍य की ओर जाने से रोक रही है.

  • Share this:
    संयुक्‍त राष्‍ट्र की वार्षिक वर्ल्‍ड एंप्‍लाइमेंट एंड साेशल आउटलुक रिपोर्ट  (World Employment and Social Outlook Report) के मुताबिक दुनिया भर में 47 करोड़ लोग यानी करीब आधा अरब लोग बेरोजगार हैं. यानी वे जितना चाहते हैं उनके पास उससे कम काम है और उन्होंने काम की तलाश करना छोड़ दिया है.

    इसके मुताबिक वैश्विक स्‍तर पर बेरोजगारी दर 2010 के दौरान अपेक्षाकृत स्थिर रही. रिपोर्ट में इस बात की भी आशंका जताई गई है कि कारोबार में आई सुस्‍ती की वजह से आ रही नौकरियों में कमी से बेरोजगारी की दर और बढ़ सकती है. वहीं यह भी कहा गया है कि बीते सालों में रोजगार की दर कम रही. पिछले साल बेरोजगारी 5.4 फीसदी रही, इसमें हालात बेहतर होने की संभावना नहीं, बल्कि रोजगार के बेहतर अवसरों की कमी समाज में अपराध, अशांति का कारण बन सकती है.

    वहीं आइएलओ (ILO) के प्रमुख गाइ राइडर (Guy Ryder) ने जिनेवा में संवाददाताओं से कहा कि 'लाखों कामकाजी लोगों के लिए काम के माध्यम से बेहतर जीवन का निर्माण करना मुश्किल हो रहा है. यह स्थिति लोगों को बेहतर अवसर पाने और अच्‍छे भविष्‍य की ओर जाने से रोक रही है.'
    ये भी पढ़ें-

     

    म्‍यांमार में रोहिंग्या के खिलाफ युद्ध अपराध हुए, जनसंहार नहीं- जांच कमेटी

     

    1 लाख लोगों को मंगल ग्रह पर जॉब देगी ये कंपनी, स्पेस ट्रैवेल के लिए मिलेगा लोन

     

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.