अपना शहर चुनें

States

नये साल पर भारत में पैदा हुए सबसे ज्यादा बच्चे, दुनिया में 3.71 लाख जन्मे

दुनिया में नये साल के दिन भारत में पैदा हुए सबसे ज्यादा 60 हजार बच्चे पैदा हुए. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
दुनिया में नये साल के दिन भारत में पैदा हुए सबसे ज्यादा 60 हजार बच्चे पैदा हुए. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Highest Number of births in the World: पूरी दुनिया में नये साल के दिन (New Year’s Day) 3,71,500 बच्चे पैदा हुए. भारत इस लिस्ट में सबसे अव्वल रहा. भारत में नया साल के दिन रिकॉर्ड 60,000 बच्चा (highest number of births in India) पैदा हुए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2021, 1:18 PM IST
  • Share this:
शिकागो. पूरी दुनिया में नये साल के दिन (New Year’s Day)  3,71,500 बच्चे पैदा हुए. भारत इस लिस्ट में सबसे अव्वल रहा. भारत में नया साल के दिन रिकॉर्ड 60,000 बच्चा (highest number of births in India) पैदा हुए. यह जानकारी युनाइटेड नेशन्स (United Nations) की बच्चों की एजेंसी यूनिसेफ (UNICEF) ने दी है. फिजी में 1 जनवरी 2021 को दुनिया का सबसे पहला बच्चा पैदा हुआ जबकि अमेरिका में सबसे आखिरी बच्चा.

इस देश में पैदा हुए इतने बच्चे

दुनिया में पैदा हुए कुल बच्चों में से आधे बच्चे भारत, चीन, नाईजीरिया, पाकिस्तान, इंडोनेशिया, इथियोपिया, अमेरिका, मिस्र, बांग्लादेश और कांगों में पैदा हुए. भारत (59,995), चीन (35,615), नाईजीरिया (21,439), पाकिस्तान (14,161), इंडोनेशिया (12,336), इथियोपिया (12,006), अमेरिका (14,161), मिस्र (9,455), बांग्लादेश (9,236) और कांगो (8,640) में बच्चे पैदा हुए.



'नए साल में पैदा हुए बच्चों की औसत उम्र 84 साल होगी'
यूनिसेफ के एक अनुमान के अनुसार वर्ष 2021 में करीब 14 करोड़ बच्चा पैदा होंगे और उनकी औसत उम्र करीब 84 वर्ष होगी. यूनिसेफ की कार्यकारी निदेशक हेनरियाटे फोर ने कहा कि आज पिछले साल की तुलना में दुनिया में आज पैदा हो रहे बिल्कुल अलग माहौल में पैदा हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि नये साल में दुनिया को बच्चों के लिहाज से पारदर्शी, सुरक्षित और स्वास्थ्यकारी बनाना होगा.

ये भी पढ़ें: अमेरिकी एयरलाइंस को भारी नुकसान, 2020 में 50 करोड़ कम हुए यात्री

दक्षिण कोरिया में 8 साल की बच्ची से रेप, 3 साल कम की गई बलात्कारी की सजा

फोर ने कहा कि आज पूरी दुनिया कोरोना महामारी वर्ष 2021 यूनिसेफ का 75वां स्थापना वर्ष है. यूनिसेफ ने स्थापना वर्ष से लेकर अब तक के इतने वर्षों में अपने सहयोगियों के साथ बच्चों को युद्ध, बीमारी और स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे मसलों पर आगे बढ़ने में मदद की. दुनिया की तमाम सरकारों, जनता, दाताओं और निजी क्षेत्रों से यूनिसेफ ने यह अपील की है वह इस मुहिम से जुड़े ताकि दुनिया को कोरोनामहामारी के बाद बेहतर दुनिया में बदला जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज