62 साल की अजगर ने छह अंडे दिए, 15 साल से किसी नर के संपर्क में नहीं आई

62 साल की अजगर ने छह अंडे दिए, 15 साल से किसी नर के संपर्क में नहीं आई
मिसौरी के लुईस चिड़ियाघर में 62 साल की अजगर ने छह अंडे दिए हैं.

अमेरिका के मिसौरी प्रांत में सेंट लुइस चिड़ियाघर (St. Louis Zoo, Missouri) में जानवरों की देखभाल करने वाले चिड़ियाघर की सबसे ज्यादा उम्र की एक मादा अजगर (Female Python) के छह अण्डों (Six Eggs) को देखकर आश्चर्य में पड़ गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2020, 1:20 PM IST
  • Share this:
मिसौरी. अमेरिका के मिसौरी प्रांत में सेंट लुइस चिड़ियाघर (St. Louis Zoo, Missouri) में जानवरों की देखभाल करने वाले चिड़ियाघर की सबसे ज्यादा उम्र की एक मादा अजगर (Female Python) के छह अण्डों (Six Eggs) को देखकर आश्चर्य में पड़ गए हैं. पशुओं की देखभाल करने वालों ने बताया कि यह मादा अजगर पिछले पंद्रह सालों से किसी सांप के सम्पर्क (Sex) में नहीं लाई गई है. जूलॉजिकल मैनेजर ऑफ़ हेरपेटोलॉजी मार्क वॉनर ने सीएनएन को बताया कि यह अजगर 1961 से चिड़ियाघर में रह रही है और इसने 23 जुलाई को सात अंडे दिए. मार्क वॉनर ने कहा कि यह एक सरप्राइज की तरह है. ईमानदारी से कहूं तो हमें उम्मीद नहीं थी कि वह एक साथ इतने अंडे देगी.

62 साल का है यह अजगर

इस सांप का कोई नाम नहीं है लेकिन चिड़ियाघर के अनुसार इसे 361003 नंबर से पहचाना जाता है. डॉक्टरों का मानना ​​है कि यह अजगर कम से कम 62 साल की है. बॉल पायथन (अजगर) को रॉयल पायथन भी कहा जाता है. ये अजगर मध्य और पश्चिमी अफ्रीका के मूल निवासी हैं जो घास के मैदानों और झाड़ियों में रहते हैं.



अजगरों की यह छोटी प्रजाति
अजगर की यह प्रजाति अफ्रीका के अजगरों की छोटी प्रजाति है जो 182 सेमी या 72 इंच तक बढ़ती है. बॉल पायथन अलैंगिक रूप से प्रजनन कर सकते हैं जिन्हें facultative parthenogenesis के जाना जाता है. वे जीव जिनमें अलैंगिक रूप से संतान उत्पन्न करने की क्षमता होती है. मार्क वॉनर ने यह भी बताया कि कोमोडो ड्रेगन और कुछ अन्य सांप और सरीसृप भी अलैंगिक रूप से प्रजनन करते हैं.

मादाएं शुक्राणु स्टोर कर लेती हैं और बाद में निषेचित करती हैं

मार्क वॉनर ने बताया है कि कुछ मादाएं देरी से निषेचन करने के लिए शुक्राणु को स्टोर कर लेती हैं. वॉनर ने कहा कि इस मामले में भी इस मादा अजगर ने किसी नर के संपर्क में आने के 7 साल बाद उसके शुक्राणुओं को निषेचित किया है. इस मादा अजगर ने 2009 में भी अण्डे दिए थे लेकिन उस वक़्त वे अण्डे सेने नहीं गए. उसके बाद किसी नर अजगर को उसके आसपास नहीं देखा गया. दो अण्डों को वैज्ञानिक परिक्षण के लिए रख लिया गया है

ये भी पढ़ें: स्कॉटलैंड में टेक्सेल नस्ल भेड़ की लगी बोली, 3 करोड़ 60 लाख रुपये में एक बिकी 

ताइवान के रक्षा मंत्री ने चेताया, कहा- सीमा रेखा ना लांघे चीन, अपनी हद में रहे तो बेहतर 

वॉनर ने बताया कि उन्होंने दो अंडों को आनुवांशिक परीक्षण के लिए संभाल कर रख लिया है ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि ये अंडे यौन या अलैंगिक रूप से प्रजनन करते हैं या नहीं. उन्होंने कहा कि लगभग एक महीने में परिणाम मिलने की उम्मीद की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज