इस्लामाबाद: पिंजरे से तोता उड़ने पर 8 वर्षीय बच्ची की बेरहमी से पिटाई, मौत

इस्लामाबाद: पिंजरे से तोता उड़ने पर 8 वर्षीय बच्ची की बेरहमी से पिटाई, मौत
इस्लामाबाद में पिंजरे से तोता उड़ने पर 8 वर्षीय बच्ची की बेरहमी से पिटाई (कॉन्सेप्ट इमेज)

रावत पुलिस थाने के अधिकारियों ने बताया कि जहरा के नियोक्ता ने स्वीकार किया कि जहरा से गलती से उनका कीमती तोता (Parrot) पिंजरे से उड़ गया था और गुस्से में आ कर उसने और उसकी पत्नी ने बच्ची को बहुत मारा.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान में एक घरेलू सहायिका के खिलाफ हिंसा का हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. दरअसल, यहां आठ साल की एक बच्ची को उसके मालिक ने इतनी बेहरमी से मारा कि उसकी मौत (Death) हो गई. बच्ची का कुसूर बस इतना था कि तोते का पिंजरा साफ करते वक्त तोता (Parrot) पिंजरे से उड़ गया था. इस अमानवीय घटना से पूरे पाकिस्तान में बुधवार को लोगों और नेताओं में रोष है और उन्होंने आठ साल की बच्ची के लिए न्याय की मांग की है.

पुलिस ने बताया कि जहरा नाम की बच्ची रावलपिंडी में एक दंपति के घर काम करती थी. उसके नियोक्ता उसे घायल अवस्था में बेगम अख्तर रुखसाना मेमोरियल अस्पाल में रविवार को ले कर पहुंचे, जहां उसकी मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि दंपति को उसी दिन गिरफ्तार करके छह जून तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

यौन दुष्कर्म की आशंका
रावत पुलिस थाने के अधिकारियों ने बताया कि जहरा के नियोक्ता ने स्वीकार किया कि जहरा से गलती से उनका कीमती तोता पिंजरे से उड़ गया था और गुस्से में आ कर उसने और उसकी पत्नी ने बच्ची को बहुत मारा. रावत पुलिस थाने में दर्ज शिकायत के अनुसार बच्ची के चेहरे, हाथों, पसलियों के नीचे और पैरों में चोट के निशान थे. प्राथमिकी के अनुसार उसकी जांघों पर भी घाव थे, जिससे बच्ची के साथ यौन दुष्कर्म होने की भी आशंका है. पुलिस ने नमूने फॉरेंसिक टीम को भेज दिए हैं और रिपोर्ट अभी आनी बाकी है.
चाह महीने पहले रखा था नौकरी पर


पुलिस ने बताया कि जहरा पंजाब के कोट अद्दू की रहने वाली थी और दंपति ने अपने एक साल के बच्चे की देखरेख के लिए चार माह पूर्व उसे काम पर रखा था. बच्ची के रिश्तेदारों ने बताया कि दंपति ने बच्ची को काम पर रखने से पहले वादा किया था कि वे उसे शिक्षा देंगे.

शीरीन मजारी का ट्वीट
इस बीच मानवाधिकार मंत्री शीरीन मजारी ने कहा कि उनका मंत्रालय इस मामले को देख रहा है. उन्होंने ट्वीट किया, 'हमारा वकील मामले को देख रहा है. पति और पत्नी चार दिन की हिरासत में हैं.' पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की सांसद शेरी रहमान ने इस घटना पर कहा कि बाल श्रम रुकना चाहिए. पीपीपी की एक अन्य नेता शर्मिला फारुकी ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि अपराध की 'बर्बरता' स्तब्ध कर देने वाली है.

ये भी पढ़ें: UN ने भी माना- भारत ही नहीं अफगानिस्तान में भी आतंकवाद फैला रहा है पाकिस्तान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading