लाइव टीवी

जर्मनी में कोरोना से 9 माह की 'रीमा' की मौत, पेटा ने की जांच की मांग

News18Hindi
Updated: May 21, 2020, 12:05 PM IST
जर्मनी में कोरोना से 9 माह की 'रीमा' की मौत, पेटा ने की जांच की मांग
जर्मनी के चिड़ियाघर में 9 माह के 'रीमा' नामक शिशु ओरंगउटान की मौत कोरोना से हो गई. Photo/Leipzig Zoo

रीमा का जन्म इसी चिड़ियाघर में अगस्त 2019 में हुआ था. वह एक सप्ताह पहले तक पूरी तरह से स्वस्थ थीं, लेकिन अप्रैल के अंत से ही उनका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा था. अंतत: इतने समय तक बीमार रहने के बाद उसकी मौत हो गई.

  • Share this:
बर्लिन. जर्मनी (Germany) के चिड़ियाघर में 'रीमा' नामक एक शिशु ओरंगउटान (Orangutan) की मौत हो गई है. इसके बाद से चिड़ियाघर प्रशासन की कड़ी आलोचना की जा रही है. वहीं जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाली और उनके साथ होने वाले दुर्व्यवहार के खिलाफ आवाज उठाने वाली संस्‍था पेटा (PETA) ने कहा है कि रीमा की मौत के मामले की जांच होनी चाहिए. 'डेली मेल' की एक रिपोर्ट के अनुसार जर्मनी के बर्लिन में लीपज़िग चिड़ियाघर (Leipzig Zoo) में रीमा नाम का एक 9 महीने का ओरंगउटान पिछले हफ्ते अस्वस्थ हो गया था. चिकित्सा विशेषज्ञों ने आशंका जताई कि बेबी ओरंगउटान कोरोना वायरस से संक्रमित हो गया है. डॉक्टर की चेतावनी के बावजूद चिड़ियाघर के प्रबंधन ने इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की और रीमा की मौत हो गई. हालांकि चिड़ियाघर प्रबंधन ने रीमा की मृत्यु का जो कारण बताया है उसे पशु अधिकार समूह ने आधारहीन बताया है और कहा है कि बंदर की मृत्यु कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से हुई है.

पेटा का आरोप, 'लापरवाही बरती गई'
वहीं पशु अधिकारों के लिए काम करने वाले स्वयंसेवकों का कहना है कि चिकित्सा विशेषज्ञों के संकेत के बावजूद प्रशासन ने बच्चे को उसकी मां या अन्य जानवरों से अलग नहीं किया गया और अब डर है कि कोरोनो वायरस का संक्रमण चिड़ियाघर के अन्य जानवरों में भी फैल सकता है. हालांकि चिड़ियाघर प्रबंधन इस बात पर जोर देता रहा है कि रीमा में कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई दिए थे और कोई अन्य जानवर इससे प्रभावित नहीं हुए हैं.

पीपुल फॉर एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (PETA) ने रीमा की मौत की जांच के लिए कहा है. साथ ही चेताया है कि अगर चिड़ियाघर के प्रबंधन ने अपनी लापरवाही जारी रखी, तो हमें भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है. रिपोर्ट के अनुसार रीमा का जन्म इसी चिड़ियाघर में अगस्त 2019 में हुआ था. वह एक सप्ताह पहले तक पूरी तरह से स्वस्थ थीं, लेकिन अप्रैल के अंत से ही उनका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा था. अंतत: इतने समय तक बीमार रहने के बाद उसकी मौत हो गई.



ये भी पढ़ें - PAK : पूर्व गवर्नर सैयद फजल आगा का कोरोना से निधन, दो मंत्री भी संक्रमित



                कोरोना का असर : मुस्लिम देशों में ईद-उल-फितर पर कर्फ्यू की घोषणा

 
First published: May 21, 2020, 12:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading