इंग्‍लैंड के पीएम पहुंचे थे अस्‍पताल, बीमार बच्‍ची के पिता ने लगाई फटकार-'यहां डॉक्‍टर नहीं और आप मीडिया लेकर आए हैं'

इस घटना के बाद इंग्‍लैंड के पीएम ने ट्ववीट कर कहा कि लोगों की समस्‍याएं सुनना मेरी जिम्‍मेदारी है.
इस घटना के बाद इंग्‍लैंड के पीएम ने ट्ववीट कर कहा कि लोगों की समस्‍याएं सुनना मेरी जिम्‍मेदारी है.

इंग्‍लैंड के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) का एक अस्‍पताल दौरा विवादों में घिर गया है. दरअसल बोरिस जॉनसन लंदन के व्‍हिप्‍स क्रॉस यूनिवर्सिटी हॉस्‍पिटल (Whipps Cross University Hospital) पहुंचे थे. यहां उन्‍हें एक बीमार बच्‍ची के पिता ने डांट पिला दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2019, 10:48 AM IST
  • Share this:
लंदन: इंग्‍लैंड के निवनियुक्‍त प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) का एक अस्‍पताल दौरा विवादों में घिर गया है. दरअसल बोरिस जॉनसन लंदन के व्‍हिप्‍स क्रॉस यूनिवर्सिटी हॉस्‍पिटल (Whipps Cross University Hospital) पहुंचे थे. यहां उन्‍हें एक बीमार बच्‍ची के पिता ने डांट पिला दी. जब बोरिस जॉनसन यहां लोगों से मिल रहे थे तभी एक बच्‍ची के पिता ने अस्‍पताल में फैली अव्‍यवस्‍थाओं के लिए उन्‍हें डांट लगा दी.

उमर सलीम नाम के इस शख्‍स ने बोरिस जॉनसन से कहा, वहां सात दिन की मेरी बेटी बीमार है. जिस वार्ड में उसका इलाज हो रहा है, वह बच्‍चों के लिए बिल्‍कुल सुरक्षित नहीं है. इस वार्ड में पर्याप्‍त स्‍टाफ भी नहीं है. एक रजिस्‍ट्रार पूरे वॉर्ड को संभाल रहा है. और आप यहां पर प्रेस को लेकर आए हैं. इन आरोपों को बोरिस जॉनसन ने नकारा, उन्‍होंने कहा, मेरा उद्देश्‍य ऐसा नहीं है और न ही मैं प्रेस को लेकर आया हूं.

उमर सलीम ने लगाई फटकार
उमर सलीम का कहना था कि इस वार्ड में न पर्याप्‍त डॉक्‍टर हैं और न ही पर्याप्‍त नर्स. यहां कोई भी चीज व्‍यवस्‍थित नहीं है. यहां का हैल्‍थ सिस्‍टम पूरी तरह से खत्‍म हो चुका है और आप प्रचार का मौका खोज रहे हैं. बाद में उमर को दूसरे डॉक्‍टर और आधिकारी समझाते हुए ले गए. बाद में सोशल मीडिया की पड़ताल में पता चला कि उमर सलीम लेबर पार्टी का एक कार्यकर्ता है.
इधर, बोरिस जॉनसन ने इस घटना के बाद खुद ट्वीट करते हुए कहा, मुझे प्रधानमंत्री बने हुए 57 दिन हो चुके हैं. ये मेरा काम है कि मैं लोगों के पास जाऊं और जानूं कि वह अपनी समस्‍याओं के बारे में क्‍या कहना चाहते हैं. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह मुझसे इत्‍तिफाक रखते हैं या नहीं. मुझे खुशी है कि उस व्‍यक्‍ति ने मुझे अपनी समस्‍या के बारे में बताया. ये मेरे लिए शर्मिंदगी की बात नहीं है. ये मेरे जॉब का हिस्‍सा है.





हालांकि उमर सलीम के राजनीतिक पार्टी से जुड़ाव की खबरों के बाद सोशल मीडिया पर लोग अलग अलग राय दे रहे हैं. कुछ लोग जहां इसे लोकतंत्र की ताकत बता रहे हैं तो कुछ लोग उमर सलीम और लेबर पार्टी से जोड़ कर देख रहे हैं.

ये भी पढ़ें...

जब युद्धाभ्यास के दौरान अमेरिकी सैनिकों ने बजाई ‘जन-गण-मन’ की धुन, वीडियो Viral

पाकिस्‍तानी चैनल पर कश्‍मीर मुद्दे पर हो रही थी बहस, तभी कुर्सी से गिर पड़े मेहमान, देखें VIDEO
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज