लाइव टीवी

कोरोना वायरस से बचने के लिए ट्रंप की ‘सलाह’ मानकर मर गया एक शख्स!

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 12:36 PM IST
कोरोना वायरस से बचने के लिए ट्रंप की ‘सलाह’ मानकर मर गया एक शख्स!
कोरोना वायरस पर ट्रंप की बताई दवा की जगह एक कपल ने गलत केमिकल पी लिया.

एक अमेरिकी कपल ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के इलाज के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की सलाह पर चलने की कोशिश की थी. लेकिन ट्रंप ने जिस दवाई का नाम लिया था, उससे मिलता जुलता एक गलत केमिकल पी लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 12:36 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की सलाह मानना एक शख्स के लिए भारी पड़ गया. कोरोना वायरस से बचने के चक्कर में उसकी जान चली गई. उस शख्स और उसकी पत्नी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सलाह पर चलने की कोशिश की थी. लेकिन ट्रंप ने जिस दवाई का नाम लिया था, उससे मिलता जुलता एक गलत केमिकल पति-पत्नी ने पी लिया. इसकी वजह से पति की मौत हो गई और पत्नी अभी भी हॉस्पिटल में मौत से जूझ रही है.

डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक कपल ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए मछली के टैंक को साफ करने वाला केमिकल पी लिया. पति-पत्नी को लगा कि ये वही जादुई दवाई है, जिसका जिक्र अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया था. केमिकल के पीते ही पति-पत्नी की तबीयत बिगड़नी शुरू हो गई. दोनों को हॉस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ा, जहां पति की मौत हो गई और पत्नी की स्थिति अभी भी नाजुक बनी हुई है.

कोरोना वायरस के खुद से इलाज करने में गई जान
अमेरिका में एरिजोना की स्वयंसेवी संस्था बैनर हेल्थ इसे एक उदाहरण की तरह पेशकर अमेरिकी लोगों को सचेत कर रही है कि कोरोना वायरस का खुद के मुताबिक इलाज करना कितना जानलेवा साबित हो सकता है. संस्था लोगों को घरेलू चीजों से कोरोना वायरस के इलाज के प्रति जागरूक कर रही है.



जानकारी के मुताबिक 60 साल की उम्र के आसपास के उस कपल ने क्लोरोक्वीन फॉस्फेट नाम का एक केमिकल पी लिया था. इस केमिकल का इस्तेमाल मछली के टैंक की सफाई में होता है. केमिकल उस कपल के घर में मौजूद था. पति-पत्नी ने सोचा कि ये वही केमिकल है, जिसका जिक्र बड़ी मजबूती से डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस के इलाज के लिए किया था. केमिकल पीने के 30 मिनट के भीतर पति-पत्नी को हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया. जहां पति की मौत हो गई.

ट्रंप ने कोरोना वायरस को लेकर क्या दी थी सलाह
दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि एंटी मलेरिया ड्रग हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन कोरोना वायरस के इलाज में काफी कारगर साबित हो सकता है. इस दवा को ट्रंप ने भगवान का वरदान बताते हुए कहा था कि इसका इस्तेमाल कोरोना वायरस के इलाज में किया जा सकता है. हालांकि अमेरिकी डॉक्टर ट्रंप के इस बयान से इत्तेफाक नहीं रखते हैं. डॉक्टरों के मुताबिक इस दवा का इस्तेमाल अपने शुरुआती चरण में है और अभी कोरोना वायरस के इलाज में इसके इस्तेमाल को लेकर कुछ पुख्ता तौर पर नहीं कहा जा सकता है.

उस कपल ने राष्ट्रपति के बताए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की जगह क्लोरोक्वीन फॉस्फेट नाम का केमिकल पी लिया. उन्हें लगा कि राष्ट्रपति ने यही दवाई बताई थी.

ये भी पढ़ें:-

कोरोना वायरस: साउथ कोरिया से सीख सकते हैं, संक्रमण पर कैसे पाया जाता है काबू
कोरोना वायरस एक्सपर्ट से बुखार का नाम सुनते ही ट्रंप के छूटे पसीने!
Covid 19: टेस्‍ट की गई वैक्‍सीन रही कारगर तो तुरंत लाखों डोज बना लेगी ये कंपनी
सरकार ने देश की 12 निजी लैब को दी कोरोना टेस्‍ट की मंजूरी, यहां जानें LIST

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 11:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर