अपना शहर चुनें

States

आंतकी सेल चलाने के आरोप में 10 चीनी जासूस पकड़ाए, अफगानिस्तान ने चुपके से दी रिहाई

अमेरिका एयरलाइन्स को कोरोनाकाल में बहुत ज्यादा घाटा हुआ है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
अमेरिका एयरलाइन्स को कोरोनाकाल में बहुत ज्यादा घाटा हुआ है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Chinese spies Detained In Afghanistan: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में 10 चीनी नागरिकों को जासूसी (10 Chinese spies caught) करते हुए पकड़ा गया है. ये काबुल में आतंकी सेल चला रहे थे. हालांकि, अफगानिस्तान सरकार ने सभी चीनी जासूसों को गुपचुप तरीके से माफ कर दिया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2021, 11:26 PM IST
  • Share this:
काबुल. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में 10 चीनी नागरिकों को जासूसी  (10 Chinese spies caught in Afghanistan) करते हुए पकड़ा गया है. ये काबुल में आतंकी सेल (Terror Cell) चला रहे थे. हालांकि, अफगानिस्तान सरकार ने सभी चीनी जासूसों को गुपचुप तरीके से माफ कर दिया है. इन 10 लोगों में से एक महिला भी शामिल थी. ये सभी जासूस चीन सरकार द्वारा चार्टर्ड प्लेन (Chartered Plane) से वतन वापसी कराए जा चुके हैं.

अफगानिस्तान सुरक्षा सेवा ने सभी को किया था गिरफ्तार

मीडिया में छपी खबर के अनुसार गत 25 दिसंबर को यह पता चला कि ये सभी जासूस चीनी खुफिया नेटवर्क से जुड़े हुए हैं. इस बारे में जानकारी मिलते ही अफगानिस्‍तान की सुरक्षा सेवा एनडीएस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया. अफगानिस्‍तान ने चीन को प्रस्‍ताव दिया था कि अगर वह जासूसी के लिए माफी मांग ले तो वह सभी को माफी दे देगा. हालांकि अभी तक यह नहीं पता चल पाया कि सभी जासूसों को किन शर्तों के आधार पर माफ किया गया.



चीनी सरकार ने चार्टर्ड प्लेन से सभी जासूसों को वतन बुलाया
अफगानिस्तान के कूटनीतिकों और सुरक्षा से जुड़े अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि कर दी है राष्ट्रपति अशरफ घानी से मंजूरी मिलने के बाद सभी 10 जासूसों को चार्टर्ड प्लेन से शनिवार को चीन भेज दिया है. इन सभी को अफगानिस्तान ने 23 दिनों तक हिरासत में रखा था. इन पर कोई अधिकारिक तौर पर आरोप नहीं लगाए गए हैं.



ये भी पढ़ें: VIRAL VIDEO: दुबई के प्रिंस ने साइकिल से शुतुरमुर्ग के साथ लगाई रेस 

PHOTOS: नॉर्वे में भूस्खलन से तबाह हुआ गांव, अबतक 7 लोगों की हो चुकी है

इससे पहले अफगानिस्‍तान के पहले उपराष्‍ट्रपति अमरुल्‍ला सालेह ने चीन के राजदूत वांग यू को ऑफर दिया था कि अगर चीन औपचारिक माफी मांग ले तो वह सभी चीनी जासूसों को रिहा कर सकते हैं. चीन का कहना था कि उसने अंतरराष्‍ट्रीय मानकों का उल्‍लंघन किया है और अफगानिस्‍तान के विश्‍वास को तोड़ा है. हालांकि चीनी राजदूत ने इस बात पर जोर दिया था कि अफगानिस्‍तान चीन के 10 जासूसों को हिरासत में लेने की घोषणा नहीं करे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज