अफगानिस्तान में फिर शुरू हुए जैश के आंतकियों के ट्रेनिंग कैंप, तालिबान से मुठभेड़ में हुआ खुलासा

अफगानिस्तान में फिर शुरू हुए जैश के आंतकियों के ट्रेनिंग कैंप, तालिबान से मुठभेड़ में हुआ खुलासा
अफगानिस्तान में मौलाना मसूद अजहर के आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के ट्रेनिंग कैंप का पता चला है.

अफगानिस्तान (Afghanistan) में जैश-ए-मोहम्मद के एक ट्रेनिंग कैंप (training camp) का पता चला है. यहां तालिबान (taliban) के लड़ाके आतंकियों को ट्रेनिंग दे रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2020, 7:57 PM IST
  • Share this:
बगदाद. कश्मीर (Kashmir) में गड़बड़ी फैलाने के लिए पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) ने अफगानिस्तान (Afghanistan) में जैश-ए-मोहम्मद के आंतकियों (terrorist) के ट्रेनिंग कैंप दोबारा से शुरू कर दिए हैं. सोमवार को इस बारे में भारतीय खुफिया एजेंसियों को जानकारी हाथ लगी है. हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान में तालिबान के लड़ाके जैश ए मोहम्मद के आंतकियों को ट्रेनिंग दे रहे थे.

अफगानिस्तान के नानगरहर प्रांत के मुहम्मद डेरा इलाके में एक ऐसे ही ट्रेनिंग कैंप का पता चला है. इस इलाके में अफगानी फोर्सेज़ और तालिबान के बीच सीधी गोलीबारी हुई थी. 13 और 14 अप्रैल की रात हुई मुठभेड़ में अफगानी सेना के 4 जवान मारे गए. कैंप की तलाशी के दौरान सुरक्षाकर्मियों ने देखा कि वहां तालिबान के सिर्फ 5 लड़ाके मृत पाए गए. बाकी के 10 मृतकों की जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी के तौर पर पहचान की गई. इन आतंकियों को कश्मीर में गड़बड़ी फैलाने के मकसद से वहां ट्रेनिंग दी जा रही थी. गोली लगे जैश के एक आतंकी को जिंदा पकड़ा गया है.

तालिबान दे रहा था आतंकियों को ट्रेनिंग
दिल्ली और काबुल में इस ऑपरेशन पर नजर रखने वालों ने बताया है कि अफगानिस्तान के नानगरहर प्रांत में तालिबान इस तरह के 4 ट्रेनिंग कैंप चला रहा है. इन कैंपों में मसूद अजहर के जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों को ट्रेनिंग दी जा रही है. पाकिस्तान में तालिबान का हक्कानी नेटवर्क जिस तरह आतंकियों के लिए ट्रेनिंग कैंप चला रहा है, ये कैंप उसी तरह के हैं. अफगानिस्तान के नानगरहर प्रांत के खोगयानी 1, खोगयानी 2 और दरगाह में आंतकियों के ट्रेनिंग कैंप मिले हैं.
अफगानिस्तान में सेना और तालिबान के बीच हुए मुठभेड़ के वीडियो सामने आए हैं. इस मुठभेड़ में अफगानी सेना को कैंप से 2 मोर्टार लॉन्चर, एक रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड और 2 एके सीरीज के राइफल मिले हैं.



मसूद अजहर के छोटे भाई ने संभाली जैश की कमान
जैश का मुखिया मौलाना मसूद अजहर भारत के वांटेड आतंकियों की लिस्ट में है. बताया जा रहा है कि वो खराब स्वास्थ्य की वजह से पाकिस्तान के बहावलपुर में टेरर ग्रुप के हेडक्वार्टर में अपने दिन गुजार रहा है. बताया जा रहा है कि फिलहाल उसका छोटा भाई मुफ्ती रऊफ असगर जैश को चला रहा है.

भारतीय खुफिया एजेंसियों को जानकारी मिली है कि मुफ्ती रऊफ असगर के बेटे वली अजहर ने भी अफगानिस्तान के इन्हीं ट्रेनिंग कैंपों में ट्रेनिंग ली है. इन कैंपों का मुखिया हरकत उल मुजाहिदीन के आतंकी मुफ्ती असगर कश्मीरी को बताया जा रहा है. इन कैंपों को चलाने में बड़ा रोल अब्दुल्ला नाम के एक आतंकी का है. अब्दुल्ला को कश्मीर में आतंकी घुसपैठ का स्पेशलिस्ट माना जाता है.

ये भी पढ़ें:-

कोरोना के खौफ में ब्रिटेन के लोगों को पड़ रहा दिल का दौरा, घर में ही हो जा रही मौत

चीन पर नवंबर महीने में फिर टूटेगा कोरोना का कहर, एक्सपर्ट ने दी चेतावनी

कोरोना: अकेले अमेरिका में पूरी दुनिया की 20 फीसदी मौतें, ट्रंप बोले- बाकी देश छिपा रहे जानकारी

क्या नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन हैं बीमार, देश के सबसे बड़े आयोजन में नहीं हुए शामिल

दुनिया में कोरोना Live: ऑस्ट्रेलिया ने भी 4 हफ़्तों के लिए लॉकडाउन बढ़ाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज